पटनाः राष्ट्रीय जनता दल के नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बिहार में मौजूदा शिक्षा व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है. ट्वीट कर तेजस्वी यादव ने कहा है कि नीतीश सरकार के निकम्मेपन के कारण बिहार में ग्रेजुएशन करने में 6-8 साल और पोस्ट ग्रेजुएशन करने में 4-6 साल लगते हैं. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने पिछले 15 साल में मीठा जहर के सहारे बिहार की शिक्षा व्यवस्था का कत्ल कर दिया.

तेजस्वी ने ट्वीट कर लिखा, "क्या आप जानते है नीतीश सरकार के निकम्मेपन के कारण बिहार में ग्रेजुएशन करने में 6-8 वर्ष और पोस्ट ग्रेजुएशन करने में 4-6 वर्ष लगते है? आत्ममुग्ध नीतीश कुमार जी ने विगत 15 वर्ष में मीठा जहर देकर बिहार की शिक्षा व्यवस्था का निर्ममता से क़त्ल किया है."

क्या आप जानते है नीतीश सरकार के निक्कमेपन के कारण बिहार में ग्रैजुएशन करने में 6-8 वर्ष और पोस्ट ग्रैजुएशन करने में 4-6 वर्ष लगते है?

आत्ममुग्ध नीतीश कुमार जी ने विगत 15 वर्ष में मीठा ज़हर देकर बिहार की शिक्षा व्यवस्था का निर्ममता से क़त्ल किया है।

— Tejashwi Yadav (@yadavtejashwi) December 2, 2019

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ''नीतीश जी ने स्कूलों और विश्वविद्यालयों से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा खत्म कर, इन्हें खंडहर में बदल कर दो पीढ़ियों का नुकसान किया है. दो पीढ़ियों के भविष्य को बर्बाद कर उनके जीवन को अंधेरे कुंए में धकेलने वाले CM को इस आपराधिक काम के लिए छात्र और युवा माफ नहीं करेंगे.''

नीतीश जी ने स्कूलो और विश्वविद्यालयों से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा समाप्त कर, इन्हें खंडहर में तब्दील कर दो पीढ़ियों का अपूरणीय नुक़सान किया है।

दो पीढ़ियों के भविष्य को बर्बाद कर उनके जीवन को अंधेरे कुँए में धकेलने वाले CM को इस आपराधिक कृत्य के लिए छात्र और युवा माफ़ नहीं करेंगे।

— Tejashwi Yadav (@yadavtejashwi) December 2, 2019

बता दें कि हाल ही में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा स्कूल खोलने के लिए जमीन की मांग को लेकर नीतीश सरकार के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठ गए थे.

शनिवार को महागठबंधन के नेताओं ने मिलकर कुशवाहा का आमरण अनशन खत्म करवाया. इस दौरान उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि वह आगे सरकार के खिलाफ और बड़ा आंदोलन करेंगे.