भोपाल : राजधानी की अशोका गार्डन थाना पुलिस ने ऐसे शातिर ठग को गिरफ्तार किया है जो मध्य प्रदेश सरकार के दो मंत्रियों के नाम का सहारा लेकर लोगों को नौकरी देने का विज्ञापन जारी कर रहा था। हैरानी वाली बात यह कि इसने यह विज्ञापन एक जाने माने अखबार तक मे दे डाला। मंत्रियो को इस बात की खबर लगने पर पुलिस को अवगत कराया गया। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार का लिया।

बताया जा रहा है कि आरोपियों में एक पूर्व आरक्षक भी शामिल है। जालसाज समाचार पत्र में मंत्रियों के नाम से विज्ञापन देकर वारदात को अंजाम दिया करते थे। सूत्रों के अनुसार अब तक की पूछताछ में ठगों ने एक दर्जन से अधिक ठगी की वारदातों को अंजाम देना स्वीकार किया है। मंगलवार शाम मंत्रियों के फोन पुलिस अफसरों के पास पहुंचे और आनन-फानन में देर रात में पुलिस ने केस दर्ज किया। मामले को लेकर ASP संजय साहू ने बताया कि मयूर विहार कॉलोनी में नौकरी छोड़ चुके आरक्षक ललित सिंह लॉस्टचांस प्रोडक्शन कंपनी का संचालक है। जबकि गब्बर थावरे इन्नोटेक हेल्थ इंडिया कंपनी का संचालक है। दोनों आरोपियों ने मिलकर बेरोजगारों को नौकरी देने की बात कहते हुए वसूली कर रहे थे, यही नहीं उन्होंने एक समाचार पत्र में विज्ञापन भी किया था। विज्ञापन में आरोपियों ने स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट और स्कूल शिक्षा मंत्री प्रभुराम चौधरी का इस्तेमाल किया था। साथ ही विज्ञापन में कहा गया था कि एक विशेष योजना के तहत बेरोजगारों को नौकरी दी जा रही है। इसका शुभारंभ दोनों मंत्री करेंगे। इस तरह दोनों आरोपी लोगों को चूना लगाने का काम कर रहे थे, जो कि अब हिरासत में हैं।