मानव शरीर में खून का संचार, मेटाबॉलिज्म को दुरुस्त बनाने और ब्लड प्रेशर के लिए कहीं न कहीं लिवर को जिम्मेदार ठहराया जाता है। इसलिए संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए लिवर का स्वस्थ होना बेहद जरूरी है।मौजूदा वक्त में इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में हम लोग खराब खान-पान की गलत आदतों के शिकार हो जाते हैं, जिसके कारण लिवर पर गंभीर प्रभाव पड़ता है और हमारा लिवर सही से काम नहीं कर पाता। ये आदतें न सिर्फ हमारे लिवर को नुकसान पहुंचाती हैं बल्कि फैटी लिवर या लिवर में सूजन जैसी समस्याओं का शिकार बना देती हैं। लिवर हमारे शरीर में रक्त से विषाक्त पदार्थ को बाहर निकालने का भी काम करता है और ऐसे में लिवर में जरा सी भी गड़बड़ आपके स्वास्थ्य के लिए चिंता का सबब बन सकती है।
लिवर के खराब होने के प्रमुख लक्षण

    पाचन संबंधी समस्याएं।
    पेट में दर्द, कब्ज या दस्त और उल्टी जैसी परेशानियां।
    हल्का बुखार रहना।
    खाना खाने का मन न करना।
    थकान और हमेशा बेचैनी महसूस होना।
    वजन का कम होना।

लिवर की सफाई करेंगे ये दो पेय पदार्थ

लौकी का जूस

लिवर की सफाई के लिए पीएं जाने वाले पेय पदार्थों में से पहला है लौकी का जूस। इस पेय पदार्थ को बनाने के लिए आप सबसे पहले एक लौकी का जूस निकाल लें। उसके बाद उसमें थोड़ा सा हरा धनिया भी डाल दें। जूस में थोड़ी सी हल्दी, थोड़ा सा काला नमक , नींबू का रस और गिलोय का रस मिला लें। इस मिश्रण को मिलाने के लिए मिक्स करें। अच्छी तरह से मिक्स हो जाने के बाद इस पेय पदार्थ को दो से 3 दिन तक लगातार सुबह खाली पेट पीएं ।अगर आपके पास सुबह इसे पीने का वक्त नहीं है या फिर आपको खाली पेट ये पेय पदार्थ नहीं पीना है तो आप इसे शाम के समय भी पी सकते हैं। नियमित रूप से इस पेय पदार्थ का सेवन आपके लिवर में जमा गंदगी को बाहर निकाल सकता है। इस पेय पदार्थ को पीने से आपके लिवर में जो भी खराबी होगी वह जल्द ही ठीक हो जाएगी।

गाजर का जूस

लिवर के अंदर मौजूद गंदगी को बाहर निकालने में गाजर का जूस भी बेहद फायदेमंद है। जी हां, गाजर का जूस आपके लिवर को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाता है। इसके लिए आप एक गिलास गाजर का जूस निकालें। उसमें थोड़ा सा आंवले का रस व सेंधा नमक मिलाएं। लगातार एक सप्ताह तक गाजर का ये जूस बनाकर घर में पीएं। नियमित रूप से गाजर के जूस का सेवन आपके लिवर की खराबी को ठीक कर सकता है।