वाराणसी : देश के गृहमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह दो दिवसीय दौरे पर आज वाराणसी पहुंचेंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी आ रहे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह बीएचयू  में 17 और 18 अक्टूबर को भारत अध्ययन केंद्र की ओर से राष्ट्र का राजनैतिक भविष्य पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी में हिस्सा लेंगे. इस संगोष्ठी में कई देशों के चिंतक शामिल होंगे.

यह संगोष्ठी बीएचयू के स्वतंत्रता भवन में अयोजित की जाएगी. दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह और कौशल विकास मंत्री महेन्द्र नाथ पाण्डेय और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भाग लेंगे.

गृहमंत्री के दौरे को देखते हुए वाराणसी में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी में अमित शाह के दौरे को लेकर अधिकारियों को कार्यक्रम को लेकर निर्देश दिए हैं. गृहमंत्री अमित शाह एयरपोर्ट से सीधे बीएचयू जाएंगे, जहां वह वैदिक विज्ञान केंद्र का निरीक्षण करेंगे .

बीएचयू में आज ‘गुप्त वंशक वीर स्कंदगुप्त विक्रमादित्य का ऐतिहासिक पुन: स्मरण एवं भारत राष्ट्र का राजनीतिक भविष्य’ विषय पर संगोष्ठी होने जा रही है . इस संगोष्ठी में अमित शाह मुख्य वक्ता के तौर पर इसे संबोधित भी करेंगे. संगोष्ठी में जापान, मंगोलिया, बंगलोक, श्रीलंका, यूएसए, वियतनाम, नेपाल से विद्वान भाग लेंगे.  इसके अलावा गोरखपुर, दिल्ली, प्रयागराज, बरेली, आरा आदि शहरों के लोग भी भाग लेंगे.

कार्यक्रम के संयोजक प्रो. राकेश उपाध्याय ने बताया कि यह कार्यक्रम दो सत्रों में आयोजित होगा. दूसरे सत्र में स्कंदगुप्त विक्रमादित्य कालीन पुरावैभव, उत्खनन-अभिलेख-मुद्राएं एवं साहित्य पर चर्चा की जाएगी. इसमें गाजीपुर के भितरी में बने हूण विनाशक विजय स्तंभ पर भी चर्चा होगी.

इस संगोष्ठी में राष्ट्रीय संग्रहालय नई दिल्ली के महानिदेशक डॉ. बी.आर. मणि, जेएनयू के प्रोफेसर संजय भारद्वाज, आइसीएसआर के ओम उपाध्याय, बीएचयू के प्रो़ सीताराम दुबे, नेपाल के डॉ. काशीनाथ, बैंकाक के डॉ. नरसिंह सी. पंडा, जापान के आइवा तकाकी सहित अनेक देशों के विद्वान गुप्त वंश के शूरवीरों के बारे में ऐतिहासिक तथ्यों को प्रस्तुत करेंगे.