अधिकतर लोगों को सुबह उठकर चाय या कॉफी पीने की आदत होती है. वैसे तो प्राचीन समय से ही चाय के पौधे को औषधीय कार्यों के लिए उपयोग में लाया जाता रहा है, लेकिन वास्तव में देखा जाए तो दिन की शुरुआत चाय या कॉफी के साथ करना हेल्थ के लिए एक अच्छा विकल्प नहीं है. चाय या कॉफी पेट के एसिड को उत्तेजित कर सकती है इसलिए कुछ हैवी फूड खाने के बाद ही चाय और कॉफी का सेवन करना बेहतर रहता है. कुछ लोगों को कॉफी या चाय से सीने में जलन, उल्टी और मतली जैसी समस्या हो सकती है

आप अपने दिन की शुरुआत गुनगुने पानी से कर सकते हैं क्योंकि 8 घंटे की नींद के बाद बॉडी डिहाइड्रेट हो जाती है. अगर कोई इंसान नौर्मल पानी नहीं पी सकता तो वह ज्यादा लाभ पाने के लिए इसे सौंफ के बीज, दालचीनी या तुलसी के पत्ते का स्वाद मिला सकते हैं. ये आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में भी मदद करते हैं.

शहद और नींबू:
इसके सेवन से आपको वजन कम करने में मदद मिलती है. साथ ही यह आपके शरीर को स्वस्थ रखता है. लेकिन मधुमेह रोगियों को शहद से बचना चाहिए.\

तुलसी और अदरक का काढ़ा:
इसके सेवन से आपके गले के संक्रमण दूर होते हैं और आपका गला साफ होता है. ये काढ़ा दमा के रोगियों के लिए भी उपयोगी है. दालचीनी या सौफ का पानी: ये दोनों एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होते हैं. ये आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का काम करते हैं और इससे आपका शरीर भी स्वस्थ रखता है.

मेथी का पानी:
मेथी के बीजों का पानी आपके वजन को कम करता है. इसके साथ ही यह ब्लड शुगर को भी कंट्रोल करने में मददगार होता है.

जीरा पानी:
जीरे में आयरन की भरपूर मात्रा पायी जाती है और साथ ही ये ब्लड कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने में भी मदद करता है. संतरे का रस: संतरा विटामिन सी का एक बहुत अच्छा स्रोत होता है और साथ ही ये इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मदद करता है.