गाजियाबाद: त्रिपुरा के पूर्व प्रमुख सचिव को दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से सोमवार को गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार पूर्व प्रमुख सचिव और राज्य लोक सेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष का नाम वाई.पी. सिंह है. सिंह पर करीब सवा करोड़ रुपये के आर्थिक घोटाले का आरोप है. यह आरोपी पीडब्लूडी विभाग से संबंधित बताया जा रहा है. गाजियाबाद पुलिस के एक अधिकारी ने नाम उजागर ना करने की शर्त पर मंगलवार को इसकी पुष्टि की.

उन्होंने कहा, "आरोपी को इंदिरापुरम अभयखंड 3 स्थित आईआरएस सोसायटी से पकड़ा गया. उसे गिरफ्तार करने के लिए अगरतला अपराध शाखा की टीम यहां पहुंची थी. आरोपी लंबे समय से वांछित था. पुलिस ने बीते साल नवंबर महीने में भी छापा मारा था. उस वक्त आरोपी नहीं पकड़ा जा सका था."

अगरतला अपराध शाखा की टीम का नेतृत्व सब इंस्पेक्टर भास्कर शाह कर रहे थे. टीम ने रविवार सुबह करीब 6 बजे इंदिरापुरम थाने को पूरी बात बताई और मदद मांगी.

सूत्रों के मुताबिक, "आरोपी के खिलाफ बीते साल अक्टूबर महीने में त्रिपुरा पुलिस ने केस दर्ज किया था. उसके ऊपर 2008-2009 में हुए आर्थिक घोटाले में अनियमितता बरतने का आरोप लगा था."

आरोपी के साथ शामिल बाकी दो लोग पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं. आरोपियों को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा.