अलीगढ़ के टप्पल इलाके में धन के लेनदेन को लेकर हुए विवाद के कारण तीन साल की एक बच्ची की हत्या करके उसका शव कूड़े के ढेर में डाल दिया गया. पुलिस ने बच्चे के पिता की शिकायत पर जाहिद और असलम नामक व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है. योगी सरकार ने एक्शन लेते हुए एसएचओ सहित पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है. इस मामले को लेकर पूरे देश में रोष है. उधर, पीड़ित मां ने पीएम नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपील की है.

पीड़ित मां ने कहा, "मैं नरेंद्र मोदी सरकार और योगी सरकार से दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने की अपील करती हूं. दोषियों को फांसी की सजा दी जाए. अन्यथा ये दरिदें सात साल के बाद फिर से बाहर आ जाएंगे और इनका मनोबल बढ़ेगा."

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने बताया कि बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची से बलात्कार के संकेत नहीं मिले हैं. उसकी गला दबाकर हत्या की गई है. उन्होंने कहा कि वारदात की गंभीरता को देखते हुए दोनों अभियुक्त पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लगाए जाने की कार्यवाही शुरू कर दी गई है. मामले की फास्ट ट्रैक अदालत में सुनवाई कराए जाने की भी प्रक्रिया शुरू की गई है. कुलहरि ने बताया कि मामला दो समुदायों से जुड़ा होने की वजह से कल पैदा हुए तनाव के मद्देनजर बड़ी संख्या में पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है.

एसएचओ सहित पांच पुलिसकर्मी निलंबित
तीन साल की मासूम बच्ची की नृशंस हत्या के मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में थाना प्रभारी सहित पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है. कुलहरि ने बताया कि पुलिस क्षेत्राधिकारी पंकज श्रीवास्तव द्वारा की गई जांच के आधार पर निलंबन की कार्रवाई की गई. उन्होंने बताया कि मामले की आगे जांच के लिए पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एवं एक महिला इंस्पेक्टर सहित छह सदस्यीय विशेष जांच टीम (एसआईटी) बनाई गई है.

आरोपियों ने जुर्म कबूला
पुलिस सूत्रों के मुताबिक दो गिरफ्तार आरोपियों जाहिद और असलम ने जुर्म कबूल कर लिया है. महज 12 हजार रुपये के लिए इस अपराध को अंजाम दिया गया. यह रकम बच्ची के पिता ने उधार ली थी और वह उसे वापस नहीं कर पा रहे थे.

मासूम की हत्या को लेकर पूरे देश में रोष
मासूम की हत्या को लेकर पूरे देश में रोष व्याप्त है. क्रिकेटर से लेकर फिल्मी हस्तियां, आम जन सभी दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. उधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि अलीगढ़ में बच्ची की भयावह हत्या से वह सदमे में हैं. कोई भी मनुष्य एक बच्चे से ऐसी बर्बरता कैसे कर सकता है ... उत्तर प्रदेश पुलिस को हत्यारों को दंडित करने के लिए तेजी से कार्रवाई करनी चाहिए.

बसपा सुप्रीमो मायावती ने लखनऊ में एक बयान में कहा कि राज्य में कानून का राज स्थापित करने के लिए प्रदेश सरकार को तत्काल कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए और दोषियों को सलाखों के पीछे पहुंचाना चाहिए. फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने कहा कि ऐसे जघन्य अपराध के लिए तत्काल और कड़े से कड़ा दंड देने की आवश्यकता है. अभिषेक बच्चन ने ट्वीट किया कि कोई इस तरह का अपराध करने की सोच भी कैसे सकता है.