ईटानगर: भारतीय वायु सेना के लापता एएन-32 विमान की खोज में लगी विभिन्न एजेंसियों के ठोस प्रयासों के बावजूद अब तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी है। खराब मौसम के बीच शनिवार को छठे दिन भी खोज अभियान लगातार जारी रहा। विमान में 13 लोग सवार थे। इस बीच, वायुसेना ने इस विमान के बारे में पुख्ता जानकारी देने वालों को 5 लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा कर दी है। डिफेंस पीआरओ विंग कमांडर रत्नाकर सिंह ने शिलॉन्ग में बताया कि एयर मार्शल आरडी माथुर, AOC इन कमांड, इस्टर्न एयर कमांड ने 5 लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि लापता AN-32 विमान की पुख्ता जानकारी देने वाले व्यक्ति या समूह को यह इनाम दिया जाएगा।

Wing Commander, Ratnakar Singh, Def PRO,Shillong:Finder may contact IAF on- 0378-3222164, 9436499477/9402077267/9402132477. IAF is using all its assets&taking help of Army,Arunachal Pradesh civil authorities&other national agencies to locate the missing AN-32 transport aircraft https://t.co/6R4Zupt3fp

— ANI (@ANI) June 8, 2019

विंग कमांडर रत्नाकर ने कहा कि लापता विमान की सूचना 0378-3222164, 9436499477, 9402077267, 9402132477 नंबरों पर दिए जा सकते हैं। बता दें कि वायुसेना अपने इस लापता विमान को ढूंढने के लिए हरसंभव कोशिश कर रही है। सेना, अरुणाचल प्रदेश प्रशासन और अन्य एजेंसिया इस विमान को ढूंढने के लिए रात-दिन एक किए हुए हैं।

Wing Commander, Ratnakar Singh, Defence PRO, Shillong: Air Marshal RD Mathur, AOC-in-C, Eastern Air Command, has announced a cash award of Rs 5 lakhs for the person(s) or group who provide credible information leading to finding of the missing AN-32 transport aircraft pic.twitter.com/MbgSvxNG3T

— ANI (@ANI) June 8, 2019

इससे पहले वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने शनिवार को जोरहाट का दौरा किया। वायुसेना के अधिकारियों ने बताया कि धनोआ को अभियान के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई और स्थिति से अवगत कराया गया। इसके बाद उन्होंने उन अधिकारियों और वायु सेना के कर्मियों के परिजनों से मुलाकात की, जो भारतीय वायुसेना के विमान में सवार थे। रूस निर्मित विमान ने अरुणाचल प्रदेश के शि-योमि जिले के मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए सोमवार रात 12 बजकर 27 मिनट पर असम के जोरहाट से उड़ान भरी थी। जमीनी नियंत्रण कक्ष के साथ विमान का संपर्क दोपहर एक बजे टूट गया। विमान में चालक दल के आठ सदस्य और पांच यात्री सवार थे। वायु सेना के प्रवक्ता विंग कमांडर रत्नाकर सिंह ने बताया कि खोज टीम इसरो के उपग्रहों सहित विभिन्न एजेंसियों के उन्नत तकनीक और सेंसर के साथ विमान का पता लगाने की कोशिश कर रही है।