अयोध्या: शिवसेना नेता संजय राउत ने शनिवार को कहा कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे पिछले साल नवंबर में किया गया वादा पूरा कर रहे हैं कि वह चुनाव बाद यहां फिर आएंगे . उन्होंने रामलला को राजनीति का नहीं बल्कि आस्था का विषय बताया.

संजय राउत ने कहा, 'रामलला राजनीति का विषय नहीं हैं बल्कि आस्था का मसला हैं . हमने राम के नाम पर वोट नहीं मांगा और ना ही भविष्य में मांगेंगे . जब वह (उद्धव) नवंबर में अयोध्या आये थे तो चुनाव बाद फिर आने का वायदा किया था . वह अपना वादा पूरा कर रहे हैं .'

'मोदी और योगी के नेतृत्व में होगा निर्माण'
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के बारे में राउत ने कहा, 'मोदी और योगी के नेतृत्व में इसका निर्माण होगा . 2019 का बहुमत राम मंदिर निर्माण के लिए है . राज्यसभा में भी 2020 तक हमारा बहुमत हो जाएगा .'

उद्धव रविवार सुबह अयोध्या पहुंचेंगे जबकि 18 नवनिर्वाचित शिवसेना सांसद शनिवार शाम तक पहुंच जाएंगे . ठाकरे रामलला के दर्शन कर पूजा अर्चना करेंगे . इस साल के अंत में महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव होने हैं .

शिवसेना ने ठाकरे की प्रस्तावित यात्रा का उद्देश्य लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन के लिए भगवान राम का धन्यवाद करना और अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की प्रतिज्ञा करना बताया है .

योगी आदित्यनाथ ने की पूजा अर्चना
पिछले शुक्रवार को उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रामलला का पूजन करने अयोध्या आए थे . अयोध्या के एक संग्रहालय में भगवान राम की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद योगी ने कहा कि यह हर किसी की इच्छा है कि राम मंदिर बने .