क्या आप भी अपनी बॉडी के लोअर पार्ट यानि टांगो, झांघो और हिप्स के मोटापे से परेशान हैं ? तो चलिए आज हम आपके लिए लेकर आएं हैं अलग-अलग वर्कआउट के तरीके जिससे आप भी पा सकेंगी बिल्कुल स्लिम-ट्रिम टांगे। साथ ही हम आपको बताएंगे लो-कैलोरी डाइट के बारे में भी जो आपके शरीर के इस हिस्से की एकस्ट्रा फैट को कुछ ही दिनों में खत्म कर देगी। तो चलिए जानते हैं स्लिम-ट्रिम टांगे पाने के आसान से नियमों के बारे में कुछ खास बातें... जिनमें डाइट से लेकर हाई जंपस और योगासन तक शामिल हैं....

कार्डियो एक्सरसाइज
टांगों की चर्बी घटाने के लिए हफ्ते में पांच दिन रोजाना आधे घंटे की कार्डियो एक्सरसाइज जरुरी है। इस वर्कआउट में रनिंग, जॉगिंग, वॉकिंग, स्विमिंग और साइकलिंग शामिल हैं। आप चाहें तो ऐरोबिकस भी जवाइन कर सकती है। रोजाना आधे घंटे का यह वर्कआउट टांगों की चर्बी को बहुत जल्द खत्म कर देगा। आप घर की सीढ़ीयां चढ़-उतर कर भी अपने टांगों को शेप में ला सकती हैं। रोजाना 5 से 7 बार लगातार सीढ़ियां चढ़ने-उतरने से न केवल टांगों की बल्कि हिप्स की चर्बी भी कुछ ही दिनों में खत्म हो जाएगी।

योगासन के जरिए घटाएं टांगों की चर्बी
कार्डियो के अलावा योगासन के जरिए भी टांगो की चर्बी घटाई जा सकती है। योग आसनों में उत्कटासन, त्रिकोणासन और वीरभद्रासन बॉडी के निचले भाग के मोटापे को दूर करने में काफी मददगार होते हैं।

उत्कटासन करने का तरीका
उत्कटासन करने के लिए जमीन पर सीधे खड़े हो जाएं। अब धीरे-धीरे जितना हो सके शरीर को नीचे की ओर झुकाएं। जितना हो सके टांगों में खिंचाव पैदा करें जिससे न केवल टांगों की चर्बी खत्म हो साथ ही लेग्स को एक अच्छी शेप मिल सके।

त्रिकोणासन करने का तरीका
त्रिकोणासन खड़े होकर करने वाला एक महत्वपूर्ण आसन है। ‘त्रिकोण’ का अर्थ  होता है  त्रिभुज और आसन का अर्थ योग है।  इसका मतलब यह हुआ कि इस आसन में शरीर त्रिकोण आकार का हो जाता है, इसीलिए इसका नाम त्रिकोणासन रखा गया है। इस आसन को करने से न केवल टांगो की चर्बी कम होती है बल्कि कमर के आस-पास की चर्बी भी कम होगी।

वीरभद्रासन  करने का तरीका
वीरभद्रासन करना बेहद आसान है। जमीन पर सीधे खड़े हो जाएं अब अपनी एक टांग को आगे की तरफ लेकर जाएं। दोनों हाथों को नमस्कार की स्थिति में लाकर ऊपर की ओर उठाएं। इस आसन को करने से भी झांघों की चर्बी कुछ ही दिनों में गायब हो जाती है।

डाइट पर दें खास ध्यान
ओट्स
नाश्ते में हैवी खाने की बजाए ओट्स का सेवन करें। आप चाहें तो ओट्स के चीले बनाकर खा सकते हैं। ओट्स खाने से मेटबॉलिजिम स्ट्रांग बनता है। जिससे आपके लीवर में एक्सट्रा फैट नहीं जमती। रोजाना ओट्स खाने से आपकी बैली फैट भी कंट्रोल में रहती है।

मछली
एक स्टडी में पता चला है कि प्रोटीन रिच डाइट खाने से शरीर एक्टिव ही नहीं बल्कि फैट-फ्री भी रहता है। शरीर में से किसी भी हिस्से से फैट कम करने के लिए मछली, दहीं और बीन्स को ज्यादा से ज्यादा ऐड करें।

ग्रीन या लेमन टी
रोज सुबह उठकर लेमन टी का सेवन करें। इससे आपका मेटाबॉलिज्म स्ट्रांग होगा जिससे एक्सट्रा फैट आपकी बॉडी में नहीं रहेगी।

फलों का सेवन
जितना हो सके फलों का सेवन करें। इससे एक तो आपका पेट भरा रहेगा साथ ही आप एनर्जेटिक एंड फ्रेश फील करेंगे।