शादी के बाद कपल्स के बीच थोड़ी बहुत तकरार होना लाजमी है लेकिन जब यही तकरार बढ़ जाए तो तलाक की नौबत आ जाती है। इतना ही नहीं कभी प्यार में जीने-मरने की कसम खाने वाले कपल्स को भी शादी के बाद उनका रिश्ता बोझ लगने लगता है। कभी दहेज, घरेलू हिंसा, एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर पर तलाक लेना तो लाजमी है लेकिन आजकल के कपल्स नॉर्मल मुद्दे पर तलाक लेने को तैयार हो जाती हैं। चलिए आपको बताते हैं कि आखिर ऐसी कौन-सी बातें हैं, जो पति-पत्नी के बीच तलाक की नौबत लै देती हैं।

धैर्य की कमी
दरअसल, आजकल के कपल्स में धैर्य की काफी कमी है, जिसके कारण वो अपनी रिलेशनशिप को समय नहीं दे पाते। वो चाहते हैं कि सबकुछ परफेक्ट चले लेकिन शादी के बाद छोटी-मोटी नोक-झोंक तो होती ही रहती हैं। इन्हें छोटी-छोटी बहसे में वो उलझ जाते हैं और बिना सोचे समझे तलाक लेने का फैसला कर लेते हैं।

एक-दूसरे से साथ वक्त ना बिताना
आजकल ज्यादा कपल्स वर्किंग हैं और अपना 8 से 10 घंटा बाहर बिताते हैं। इसके कारण कपल्स साथ में वक्त ही नहीं बिता पाते और एक-दूसरे से खिंचे-खिंचे रहने लगते हैं। रिश्ते में तालमेल ना होने के कारण उनके बीच तलाक की नौबत आ जाती है।

कम उम्र में शादी
कम उम्र में शादी करने से भी रिश्ते में मजबूती नहीं आती। ज्यादातर लव मैरिज में ही ऐसा देखने को मिलता है। लड़का-लड़की कम उम्र में प्रेम विवाह तो कर लेते हैं लेकिन शादी के बाद जब सिर पर जिम्मेदारियां पड़ती हैं तो रिश्ते में दूरियां आ जाती हैं और बात तलाक तक पहुंच जाती है।

घरवालों का दखल
आजकल लड़कियां अपनी मर्जी से जीना पसंद करती हैं। उन्हें यह बात बर्दाश्त नहीं होती कि ससुराल वाले उनकी शादीशुदा जिंदगी में दखल दें। इसके कारण पति-पत्नी में तकरार होने लगती हैं और बात तलाक तक पहुंच जाती है।

एक दूसरे के ठीक से ना समझना
कई बार पति-पत्नी आपस में एक-दूसरे का समझ नहीं पाते और स्थितियों से पूरी तरह से वाकिफ नहीं होते। पूरी बात समझें बिना आपस में झगड़ने लगते है। इससे नौबत तलाक तक आ जाती है।