पेड़-पौधे इंसान की जिंदगी का कीमती हिस्सा हैं। वास्तु शास्त्रों में भी पेड़-पौधों को विशेष महत्व दिया गया है। अगर घर में वास्तु के अनुसार पेड़-पौधे लगाए जाएं तो उनसे घर में पॉजिटिव एनर्जी बढ़ने लगती है। जिससे घर के सदस्यों का स्वास्थय, मन और कामकाज हमेशा उन्नति की तरफ ही जाते हैं। पीपल, नीम,आंवला,आम, केला और बांस  जैसे अनेकों पेड़ घर के लिए सबसे उत्तम माने जाते हैं तो चलिए जानते हैं इन पेड़ों के बारे में कुछ और खास बातें...

सबसे जरुरी बात घर की उत्तर-पूर्व दिशा में कम ऊंचाई वाले पौधे जैसे तुलसी, गेंदा, आंवला, चंपा-चमेली आदि लगाने से घर की वायु शुद्ध होती है। घर के दक्षिण-पश्चिम में ऊंचे पेड़ जैसे कि नीम का पेड़ और पीपल आदि लगाने से घर के सभी वास्तु दोष दूर होते हैं।

चमेली
चमेली का पौधा कमल के फूलों के साथ घर में लगाना शुभ माना जाता है। चमेली के पौधे से मन आनंदित रहता है। साथ ही इसकी खुश्बू घर के वातावरण को सदैव हसीन व सुंदर बनाकर रखती है। चमेली के फूलों की माला गूंथकर पूजा स्थान पर रखने से भगवान की अपार कृपा आप पर बनी रहती है।

नीम का पेड़
नीम के औषधीय गुणों के बारे में भला कौन नहीं जानता। सालों से घर के बुजुर्ग प्रवेश द्वार पर नीम की पत्तियां बांधना शुभ मानते हैं। नीम का पेड़ अपने आसपास के वातावरण को कीटाणुमुक्त बना देता है। ऐसा माना जाता है कि जिस घर में नीम का पेड़ होता है वहां किसी भी प्रकार की बुरी बलाएं प्रवेश नहीं करती। नीम पेड़ की लकड़ी से बने फर्नीचर व दरवाजों में कभी दीमक नहीं लगती।

केले का पौधा
केले का पौधा पुरातन समय से शुभ व धन-संपन्नता का प्रतीक माना जाता है। यही कारण है कि हर शादी-ब्याह के मंडप में केले के पत्ते अवश्य रखे जाते हैं। वास्तु शास्त्रों के अनुसार हर गुरुवार को केले के पेड़ की पूजा करने से जीवन में आऩे वाले
शारीरिक कष्ट दूर होते हैं। इसके पत्तों पर रखकर खाया भोजन स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है।

बांस
घर की उत्तर-पूर्व दिशा में लगा बांस का पेड़ काफी शुभ माना जाता है। वास्तु के अनुसार बांस का पेड़ कारोबार में वृद्धि और सुख-समृद्धि लाने वाला होता है। चीन में फेंगशुई के अनुसार भी इस पेड़ को गुड-लक का प्रतीक माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि जहां बांस के पेड़ लगे होते हैं उस क्षेत्र में आकाशीय बिजली गिरने की आशंका काफी कम होती है।

तुलसी का पौधा
तुलसी का पौधा घर की उत्तर-पूर्व व पूर्व दिशा में लगाने से घर की सुख-स्मृद्धि में बढ़ावा होता है। तुलसी का पौधा औसतन 10 पेड़ों के बराबर ऑक्सीजन छोड़ता है। तुलसी का पौधा घर के दक्षिणी भाग में नहीं लगाना चाहिए। इससे वह ज्लदी मुरझा जाता है। तुलसी का पौधा मुरझाना घर के लिए अशुभ संकेत लेकर आता है।