नई दिल्‍ली : पाकिस्‍तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा पर बुधवार को इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) ने रोक लगा दी है. इस पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुरुवार को राज्‍यसभा में कहा कि इंसाफ पर भरोसा करने वालों के लिए आईसीजे का फैसला नजीर है. उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान ने कुलभूषण जाधव को झूठे केस में फंसाया है. सरकार कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ है. पाकिस्‍तान ने वियना संधि का उल्‍लंघन किया है. केंद्र सरकार कुलभूषण के अधिकारों की रक्षा करेगी.

EAM S Jaishankar on #KulbhushanJadhav verdict, in Rajya Sabha: We once again call upon Pakistan to release and repatriate Kulbhushan Jadhav. https://t.co/1k3iZLtqS4

— ANI (@ANI) July 18, 2019

EAM S Jaishankar in Rajya Sabha on #KulbhushanJadhav verdict: In 2017, govt made commitment on floor of the House to undertake all steps necessary to protect interest&welfare of Shri Jadhav.Govt has made untiring efforts in seeking his release including through legal means in ICJ pic.twitter.com/aAKeqUJ5Zj

— ANI (@ANI) July 18, 2019

EAM S Jaishankar in Rajya Sabha on #KulbhushanJadhav verdict: #KulbhushanJadhav's family has shown exemplary courage in difficult circumstances. I can assure the govt will vigorously continue its efforts to ensure his safety and well being, as well as his early return to India. pic.twitter.com/DiPyzMQUoX

— ANI (@ANI) July 18, 2019

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि हम एक बार फिर कहना चाहते हैं कि पाकिस्‍तान कुलभूषण जाधव को रिहा करे. उन्‍होंने कहा कि आईसीजे की 15-1 की वोटिंग ने भारत के उस दावे को सही साबित किया है, जिसमें भारत ने पाकिस्‍तान द्वारा  कई बार वियना संधि के उल्‍लंघन की बात कही थी.