नई दिल्ली: कांग्रेस में पार्टी के नए अध्यक्ष को लेकर जारी गतिरोध को दूर करने के लिए प्रियंका गांधी को पार्टी की बागडोर सौंपने की मांग उठने लगी है लेकिन नेतृत्व का संकट जल्द समाप्त होता नहीं दिख रहा है क्योंकि पूर्व पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी अमेरिका के लिए रवाना हो चुके हैं.

सूत्रों ने बताया कि सोनिया गांधी को पार्टी की कमान संभालने के लिए मनाने में विफल होने पर पुराने कांग्रेसी अब प्रियंका का नाम ले रहे हैं. पुराने कांग्रेसियों की पहली पसंद अब प्रियंका गांधी हैं जबकि राहुल गांधी इस जिद पर अड़े हैं कि नया अध्यक्ष गांधी परिवार से नहीं होगा. परिवार के बाहर से पार्टी के शीर्ष पद के लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट शायद पसंद हो सकते हैं.

हालांकि प्रियंका गांधी की ओर से राजनीति में बड़ी भूमिका को लेकर कोई संकेत नहीं है. सिवा यह कि उन्होंने गुरुवार को नेल्सन मंडेला को याद करते हुए अपने ट्वीट में कहा कि 'अंकल नेल्सन' ने कैसे उन्हें कहा था कि उनको पहले ही राजनीति में आ जाना चाहिए. उन्होंने मंडेला के 101वीं जयंती पर ट्वीट करके कहा, 'दुनिया को नेल्सन मंडेला जैसे शख्स की कमी आज भी खलती है. उनका जीवन सत्य, प्यार और स्वतंत्रता का प्रमाण है