इस्लामाबाद : पाकिस्तान सरकार की फिजूलखर्ची रोकने के अभियान के तहत अब इमरान खान ने एक नया कदम उठाया है. एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक, इमरान खान चार्टर प्लेन के बजाय यूएस एक कॉमर्शियल फ्लाइट से जाएंगे. पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के एक सहयोगी के हवाले से ये दावा किया गया है. गुरुवार को नईमुल हक ने ट्वीट कर कहा, पीएम इमरान खान कतर एयरवेज की फ्लाइट से वॉशिंगटन जाएंगे.

यूएस-पाकिस्तान के तनावपूर्ण रिश्तों के बीच ट्रंप के निमंत्रण पर इमरान खान 21-23 जुलाई तक यूएस में रहेंगे. सत्ता में आने के बाद से पीएम इमरान खान ने सादगी और मितव्ययिता का संकल्प लिया था. उन्होंने अपनी पूर्ववर्ती सरकारों के मुकाबले सरकारी खर्च में कटौती का वादा किया था.

हालांकि, यह पहली बार होगा जब वह किसी आधिकारिक दौरे के लिए कॉमर्शियल प्लेन का इस्तेमाल करेंगे. इससे पहले यूएई और मलेशिया के दौरों पर निजी प्लेन से गए थे.सूत्रों का दावा है कि पीएम अपने दौरे में होटल के बजाय वॉशिंगटन में पाकिस्तान दूतावास के आधिकारिक निवास में रुक सकते हैं.

केंद्रीय मंत्री मुराद सईद ने बुधवार को दावा किया था कि पूर्व प्रधानमंत्री नवजा शरीफ ने 2015 के यूएस दौरे में 460,000 डॉलर खर्च किए थे जबकि पीएम इमरान खान के दौरे में सिर्फ 60,000 डॉलर ही खर्च होंगे.

हालांकि, तमाम दावों के बावजूद इमरान सरकार पर भी फिजूलखर्ची को लेकर कई बार सवाल उठते रहे हैं. इसी साल, पीटीआई सरकार ने सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान को रिसीव करने के लिए 300 टोयोटा लैंड क्रूजर प्राडोस किराए पर ली थी. इसके अलावा, राष्ट्रपति आवास के लिए तोतों के पिंजड़ों पर 20 लाख रुपए खर्च करने के टेंडर पर भी विवाद हुआ था.