आर्युवेद के मुताबिक खान-पान से रिलेटिड खबरें तो आप पढ़ते ही रहते होंगे। क्या, कब और कैसा खाना आपकी सेहत की लिए फायदेमंद रहेगा इस बारे में आर्युवेद बहुत सी चीजें बताता है।आयुर्वेद के अनुसार शरीर में तीन तरह के दोष पाएं जाते हैं। जैसे कि - वात, पित्त और कफ दोष। इन्हीं तीन दोषों के अनुसार आपके शरीर की बनावट, दोष, मानसिक अवस्था और स्वभाव का पता लगाया जा सकता है।

आयुर्वेद में अच्छे स्वास्थ्य के दस संकेत बताए गए हैं। जैसे कि...
प्रॉपर डाइजेशन सिस्टम

आयुर्वेद के अनुसार अगर आप खाना खाने के बाद हैवी फील करने की बजाए, लाइट एंड हैल्दी फील करते हैं तो इसका मतलब आपका आहार और रहन-सहन बिल्कुल सही है। अक्सर लोगों को खाना खाने के बाद पेट में गैस, सीने में जलन या फिर सुस्ती महसूस होने लगती है। इसके दो ही मुख्य कारण हो सकते हैं, या तो आप किसी बीमारी का शिकार हैं या फिर आप सही तरीके और मात्रा से नहीं खा-पी रहे। 

पांच इंद्रिया का सही काम करना
भगवान ने इंसान को सबसे ज्यादा बुद्धिमान बनाया है। उसे चीजों को महसूस करने के लिए उन्होंने पांच इंद्रिया दी हैं। अगर आप अपने आस पास चल रही गतिविधियों को आसानी से समझ पा रहें हैं तो आयुर्वेद के मुताबिक आप एक सफल जीवन जी रहे हैं। 

शांत स्वभाव और मन
आपका स्वभाव जितना शांत और ठंडा होगा आप उतने ही फिट एंट फाइन रहेंगे। अक्सर देखा गया है कि शारीरिक व मानसिक तौर पर परेशान लोग अधिक गुस्सा करते हैं। आपकी बॉडी जितनी स्वस्थ होगी आप को उतना कम गुस्सा आएगा। 

अच्छा हाजमा
अच्छे हाजमें की भी दो निशानियां हैं, एक तो खाया हुआ भोजन जल्दी पच जाए और दूसरा आप दिन में जितनी भी बार खाना खाएं वो जबरदस्ती वाला काम न हो, बल्कि आपको खाने के वक्त अच्छी तरह भूख लगी होनी चाहिए। इससे आपकी सेहत भी बनी रहेगी साथ ही खाने का स्वाद भी दोगुना हो जाएगा। 

समय पर सोना
अच्छी सेहत की पहली निशानी अच्छी नींद होती है। अगर आप भी बेड पर लेटते ही सो जाते हैं, इसका मतलब आप एक हैल्दी लाइफ जी रहे हैं। नींद अगर सामान्य है तो न केवल आपकी शारीरिक, बल्कि मानसिक सेहत को भी दुरुस्त रखती है।

सुबह एक ही बार में उठना
अगर आप अच्छी नींद और अच्छी डाइट ले रहें है तो आप सुबह के पहले अलार्म पर एक ही बार में उठ जाते होंगे। हालांकि उठने के लिए आपको किसी अलार्म की भी जरुरत नहीं पड़ेगी। आपकी नींद पूरी होते ही आप खुद ब खुद उठ जाएंगे। 

रोजाना पेट की सफाई
एक स्वस्थ व्यक्ति के पेट की सफाई दिन में दो बार होती है। एक बार सुबह और दूसरी बार शाम के वक्त। ऐसे में सही खान-पान की बहुत जरुरत होती है, यदि आप भी सही खान-पान के जरिए अपने पेट को साफ रखेंगे तो आपका शरीर अनेकों बीमारियों से दूर रहेगा। यहां तक कि पसीना आना भी एक स्वस्थ शरीर की निशानी माना जाता है। पसीने के जरिए शरीर में से यूरीन से भी ज्यादा गलत तत्व निष्कासित होते हैं। 

बैंलेसड वजन
फिट शरीर के लिए वजन का संतुलित होना बहुत जरूर है। ऐसा तभी संभव है जब आप अच्छा भोजन खाएंगे। वर्जिश करने वाले लोगों का वजन बिल्कुल सही रहता है। डाइटिंग की बजाए वर्जिश को अपने जीवन में शामिल करें। अक्सर डाइटिंग करने वालों को वीकनेस का सामना करना पड़ता है। जिससे उनका शरीर फिट होने की बजाए कमजोर रहने लगता है। 

नैचुरल स्ट्रेंथ और इम्युनिटी 
जिन लोगों की काम करने की स्ट्रेंथ और इम्युनिटी सिस्टम स्ट्रांग होती है वे लोग भी हेल्दी लाइफ जीते हैं। अपने काम को हम तभी अच्छे तरीके से कर सकते हैं जब हमारी बॉडी पूरी फिट एंड फाइन होगी। 

त्वचा की नैचुरल रंगत
मानसिक और शारीरिक रुप से स्वस्थ लोगों के चेहरे पर एक अलग निखार होता है। उसके पीछे छिपा कारण उनका सही लाइफस्टाइल होता है। यदि आपका चेहरा भी नेचुरल ग्लो कर रहा है तो समझ लीजिए आप एक स्वस्थ जीवन जी रहे हैं।