काबुल: अफगानिस्तान में काबुल विश्वविद्यालय के द्वार के बाहर शुक्रवार तड़के जबर्दस्त बम धमाका होने से छह लोगों की मौत हो गयी और 27 अन्य घायल हो गये। पुलिस और स्वास्थ्य अधिकारियों ने यह जानकारी दी। किसी ने भी इस धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली है। वैसे यहां तालिबान और इस्लामिक स्टेट से संबद्ध एक संगठन अफगान सुरक्षाबलों, सरकारी अधिकारियों और अल्पसंख्यक शियाओं को निशाना बनाते हुए बड़े पैमाने पर अकसर बम हमला करते रहते हैं। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. वहीदुल्लाह मयार ने ट्वीट किया कि काबुल में आज के बम धमाके के परिणामस्वरूप छह लोग शहीद हो गये और 27 घायल हो गये। सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया और उनका इलाज चल रहा है। इस सह शिक्षा विश्वविद्यालय के परिसर में कई छात्रावास हैं जहां विद्यार्थी गर्मियों में ठहरते हैं । अफगानिस्तान में शुक्रवार सप्ताहांत की शुरुआत है। 

विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र के प्रोफेसर मसूद ने कहा कि जब यह धमाका हुआ तब कई वकील न्यायाधीश बनने के लिए विश्वविद्यालय में परीक्षा दे रहे थे। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है कि वकील धमाके के निशाने पर थे या नहीं। इस बीच, अमेरिकी रक्षा खुफिया अधिकारी ने बताया कि आईएस से संबद्ध संगठन ने अपनी ताकत और पहुंच का विस्तार करने के लिए काबुल विश्वविद्यालय के खासकर तकनीकी में सिद्धहस्त विद्यार्थियों को भर्ती करने के लिए कोशिशें तेज कर दी हैं। तालिबान प्रवक्त जबीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा कि शुक्रवार के हमले में तालिबान की संलिप्तता की उसे जानकारी नहीं है।