श्रीनगर :  राजनाथ सिंह बतौर रक्षामंत्री आज अपने दूसरे जम्मू कश्मीर दौरे पर हैं। उन्होंने शनिवार को करगिल से पाकिस्तानी घुसपैठियों को खदेड़ने के लिए चलाये गये ‘ऑपरेशन विजय' की 20वीं वर्षगांठ के अवसर पर द्रास में करगिल युद्ध स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

Jammu & Kashmir: Union Defence Minister Rajnath Singh paid tribute at Kargil War Memorial in Drass, earlier today. Army Chief General Bipin Rawat was also present with him. pic.twitter.com/fhc0b4Egyt

— ANI (@ANI) July 20, 2019

सिंह कठुआ जिले में ऊझ और सांबा जिले में बसांतर में सीमा सड़क संगठन द्वारा निर्मित दो पुल राष्ट्र को समर्पित करेंगे। उझ पुल एक किलोमीटर लंबा और बसांतर पुल 617.4 मीटर लंबा है। सेना के बहादुर जवानों ने दुर्गम और प्रतिकूल क्षेत्र तथा खराब मौसम का मुकाबला करते हुए वायु सेना की मदद से करगिल की चोटियों से घुसपैठियों को खदेड़ कर तिरंगा लहराया था। इस यादगार अवसर पर राष्ट्र बहादुर शहीदों की स्मृति में आपरेशन विजय की 20 वीं वर्षगांठ मना रहा है।

इससे पहले रक्षा मंत्री ने गत 14 जुलाई को राजधानी में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक से विजय मशाल को द्रास स्थित करगिल युद्ध स्मारक के लिए रवाना किया था। विजय मशाल को भारतीय सेना के उत्कृष्ट खिलाड़ी और बहादुर योद्धा ले जा रहे हैं। यह उत्तर भारत के 9 प्रमुख कस्बों तथा शहरों से गुजरते हुए 26 जुलाई को शहीदों की कर्मभूमि पर पहुंचेगी। पूरे यात्रा मार्ग पर सेना के जवान देश के लिए ने प्राणों की आहुति देने वालों को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे।