अल्ला मेघ दे, पानी दे, छाया दे रे, रामा मेघ दे, श्यामा मेघ दे, अल्ला मेघ दे। इधर सेन्ट्रल लाइब्रेरी मैदान पे शहर काजी मुश्ताक अली नदवी ने नमाजे इस्तिकसा अदा कराई और महज पौन घंटे बाद भोपाल तर हो गया। उसी मैदान पे बच्चे पानी में खेलने लगा जहां नमाज अदा की गई थी। पौन घंटे में 20 मिमी बारिश, भोपाल तरबतर और धर्म समाज पेज पे दुआ-प्रार्थना का असर बरसीं खुशियों वाले आइटम भेतरीन स्पेस पा गए। बाकी सोनभद्र जा रहीं प्रियंका की हिरासत से लेकर भोपाल में सुरेंदनाथ सिंह की गिरफ्तारी और जमानत वाली खबरें भी यहां ढंग से नुमायां हो रही हैं। भोपाल से लगा टाइगर रिजर्व पेंच से भी बड़ा होने वाली खबर ध्यान खींचती है। भोपाल की 7500 झुग्गियों से हर माह सवा दो करोड़ की वसूली होती है।