ईयरफोन का इस्तेमाल ज्यादातर लोग गाना सुनने या फिर ड्राइव के दौरान बातचीत करने के लिए करते हैं। कम समय के लिए इनका इस्तेमाल करना कोई गलत बात नहीं है। मगर यदि आप सारा-सारा दिन ईयरफोन कानों में लगाकर घूमते रहते हैं तो आपको इन बातों पर ध्यान देने की बेहद जरुरत है...

सुनने में परेशानी
ईयरफोन का अधिक उपयोग करने से इंसान के सुनने की क्षमता काफी हद तक कम हो जाती है। यहां तक कि इंसान बहरा भी हो सकता है। एक साथ 60 मिनट से अधिक गाना सुनना या फिर बात करना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है।

सिर दर्द
ईयरफोन से निकलने मैग्नेनेटिक इफेक्ट सिर दर्द की समस्या को बढ़ावा देते हैं। इसके अलावा नींद ना आने का कारण भी बनता है। धीरे-धीरे ईयरफोन का इस्तेमाल हमारी दिमाग की नसों को कमजोर कर देता है। जिससे हमारी सोचने समझने की शक्ति भी कमजोर हो जाती है।

इंफेक्शन का डर
सारा-सारा दिन कानों में हेडफोन लगाकर रखने से इंफैक्शन होने का डर भी बना रहता है। एक दूसरे के ईयफोन यूज करने से भी कानों में संक्रमण हो सकता है। हेडफोन्स पूरे कान में गर्मी पैदा कर देते हैं, जिससे बैक्टीरिया की वजह से ईयर इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है।

बाहरी नुकसा
इयरफोन का ज्यादा इस्तेमाल आपको पूरी दुनिया से डिसकनेक्ट कर देता है। आजकल होने वाली कई सारी दुर्घटनाएं इन ईयरफोन पर संगीत सुनने या फिर बातचीत करने के कारण ही होती है। ऐसे में सड़क के आस-पास और बाहर जाते समय कभी भी इयरफोन का इस्तेमाल न करें।

हार्ट प्रॉब्लम
घंटो ईयरफोन लगाकर बातें करने और गाने सुनने से दिल की धड़कन तेज होती है। जिस वजह से हार्ट से जुड़ी अनेकों समस्याएं इंसान को अपनी चपेट में ले लेती हैं।

कैंसर
हेडफोन से निकलने वाली खतरनाक रेडिएशन, व्यक्ति को कैंसर जैसी बीमारियों की चपेट में ले लेती हैं। ज्यादातर व्यक्तियों को इसकी वजह से ब्रेन-ट्यूमर होता है।

कान का सुन्न होना
लंबे समय के लिए कान में ईयरफोन लगाकर गाने सुनने से हमारे कान सुन्न भी हो सकते हैं। जिसका सीधा असर हमारे सोचने समझने की शक्ति पर पड़ता है।