नई दिल्ली: भारतीय महिला धावक हिमा दास चेकगणराज्य में नोवे मेस्टो नाड मेटुजी ग्रां प्री में अब तक पांच गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं. भारतीय एथलेटिक्स के हाई परफार्मेंस डायरेक्टर वोल्कर हरमन का मानना है कि यूरोप में तीन सप्ताह में पांच मेडल जीतने वाली स्टार धाविका हिमा दास अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के करीब है. उन्नीस साल की हिमा ने पोलैड और चेक गणराज्य में दो जुलाई के बाद से दो सौ मीटर की चार और चार सौ मीटर की एक स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल किया है. इस दौरान उन्होंने अपने समय में भी सुधार के साथ शानदार प्रदर्शन किया.

हरमन ने कहा, ''हिमा सही दिशा में आगे बढ़ रही है. अगर आप 50 सेकंड से कम समय में दौड़ (400 मीटर) पूरी करना चाहते है तो आपके पास 22.80 सेकंड में दौड़ (200 मीटर) पूरी करने की क्षमता होनी चाहिए.'' हिमा ने 20 जुलाई को 400 मीटर में 52.09 सेकंड के सत्र के सर्वश्रेष्ठ समय के साथ गोल्ड मेडल जीता था.

हिमा ने 26 सितंबर से छह अक्टूबर तक दोहा में होने वाले विश्व चैम्पियनशिप के लिए 200 मीटर या 400 मीटर की दौड़ स्पर्धा के लिए क्वालीफाइ नहीं किया है. पुरूष वर्ग में हालांकि मोहम्मद अनस ने 400 मीटर स्पर्धा में राष्ट्रीय रिकार्ड के साथ विश्व चैम्पियनशिप के लिए क्वालीफाई किया.

एक जुलाई को भारतीय एथलेटिक्स के साथ जुड़ने वाले हरमन ने कहा, ''हमारे पास मोहम्मद अनस भी है जो अपने रिकार्ड में ही सुधार कर रहे है और यह शानदार है.'' जर्मनी के हरमन ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक के लिए 25 से 30 भारतीय एथलीट क्वालीफाई कर सकते है.

उन्होंने कहा, ''पुरूषों और महिलाओं के 400 मीटर रिले में विश्व चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले आठ एथलीट सीधे क्वालीफाई कर लेंगे और हमारे लिये शायद यह सबसे आसान तरीका होगा. भाला फेंक और 400 मीटर दौड़ में भी हम अच्छी स्थिति में है.''