डल झील में शिकारे पर बैठ देखा चार चिनार, निशात बाग से डल झील पर सूरज का विस्तार। 370 के बाद मोदी ने पहली बार मुल्क को खिताब किया। उन्ने कश्मीर में निवेशकों को आमंत्रित किया है।  भोपाल में बारिश भोत उम्दा हो रई हे साब। भोपालियों को भदभदा के मोहरे खुलने का इंतजार है। पूरे सूबे में मानसून मेहरबान है। भेतरीन खबर। बिजली का बिल अगले महीने फिर झटके मारने वाला हेगा। खबर सभी पढ़ेंगे आंखों पे चश्मा लगा के। यादगारे शाहजहानी पार्क डंपिंग यार्ड में बदल गया है। खबर अच्छी है बाकी नवदुनिया पेले कर चुका हेगा इसे। एमपी नगर से हटाई गर्इं गुमठियां एमपी नगर में पटरी किनारे रखी जा रही हैं। इसे कोचिंग वालों ने बच्चों के सहयोग से मुद्दा बना दिया। भोपाल पे बारिश की मेहरबानी वाली खबर मय तुलनात्मक आंकड़ों के जानदार रही।