राजगढ़: मध्य प्रदेश में प्रशासन की लापरवाही से दर्जनों गायों की मौत का मामला सामने आया है. प्रदेश के राजगढ़ जिले के श्री कृष्ण गौशाला में अब तक 30 से अधिक गायों की मौत हो चुकी है. गायों की मौत बारिश में भीगने और खुले में बारिश की वजह से गायों के लगातार कीचड़ में बैठने से हो रही है. गौशाला के चौकीदार के मुताबिक यहां 600 गायें हैं, लेकिन वर्तमान में यहां 7000 गायें हैं. इस कारण गायों की संख्या के हिसाब से शेड नहीं है जिससे गायों को खुले आसमान में रहना पड़ता है. गौशाला के चौकीदार के मुताबिक यहां हर दिन चार से अधिक गायों की मौत हो रही है.

गौशाला के चौकीदार बताते हैं, ''गौशाला में 600 गायें हैं, लेकिन इस समय आसपास के ग्रामीण अपनी फसल को बचाने के लिए गायों को गांव से भगाते हुए गौशाला में लाकर छोड़ देते है जिससे गौशाला में क्षमता से अधिक गाय हो गई." गौशाला के चौकीदार बताते हैं कि इस कारण अभी गौशाला में खुले आसमान के नीचे सात हजार गायें हैं. उन्होंने बताया कि जिन गायों की मौत हो जाती है उसे खिलचीपुर नगर के मेला ग्राउंड में फिकवाया जा रहा है.

एबीपी न्यूज़ की टीम जब राजगढ़ जिले की खिलचीपुर में स्थित श्री कृष्ण गौशाला पहुंची तो गौशाला के अंदर दो गायों के शव पड़े हुए थे. यहां तीन अन्य गायें जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही थी और उसे देखने वाला कोई नहीं था. गौशाला के चौकीदार बताते हैं कि गायों की मौत बारिश, कीचड़ और गौशाला में गायों की भीड़ के कारण हो रही है. उन्होंने बताया कि गौशाला में गायों के बैठने तक की जगह नहीं है.