नई दिल्ली: ट्रेन में यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने कोरस कमांडो दस्ता तैयार करने का फैसला किया है. ये कोरस कमांडो आतंकी हमलों से लेकर नक्सली हमलों तक, रेलवे की सुरक्षा करेंगे. रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (RPF) के जवानों को स्पेशल ट्रेनिंग देकर कमांडो दस्ता तैयार किया जाएगा. साथ ही इन्हें बेहद आधुनिक हथियारों से लैस किया जाएगा. ये कमांडो रेलवे और रेल मुसाफिरों की हर विपरीत और खतरनाक परिस्थितियों में सुरक्षा करेंगे.

कोरस कमांडों की ट्रेनिंग देश के शीर्ष कमांडो ट्रेनिंग सेन्टर में हुई है, जहां NSG के जवानों को ट्रेनिंग दी जाती है. रेलवे की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि  CORAS (कमांडो फॉफ रेलवे सिक्योरिटी) कमांडो की पहली बटालियन तैयार हो गई है. बता दें, आधुनिक हथियारों से लैस कोरस के जवान RPF की आर्म्ड बटालियन RPSF (रेलवे प्रोटेक्शन सिक्योरिटी फोर्सेज) से अलग होगी.

महिला पुरूष मिलाकर इस बटालियन में 1200 चुनिंदा जवानों को शामिल किया गया है. ये कमांडो आतंकी हमले, होस्टेज संकट और आंतरिक हमले में जान-माल की रक्षा करने में निपुण हैं. मुंबई में हुए आतंकी हमले से लेकर नक्सलियों के द्वारा राजधानी एक्सप्रेस को होस्टेज बनाये जाने की घटना के बाद से ही इस तरह की एक विशेष कमांडो दस्ते के गठन की बात हो रही थी. पर अभी तक कोई साफ नीति नहीं होने की वजह से ये नहीं बन पाई थी.