नई दिल्लीः मध्य प्रदेश में इन दिनों बारिश कहर बनकर लोगों पर बरस रही है. लगातार जारी बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं, जिससे अभी तक कई लोगों की जान भी जा चुकी हैं. ऐसे में शिवपुरी में भी लोगों को बारिश का रौद्र रूप देखने को मिला. जहां 27 सालों में पहली बार सिंध नदी उफान पर दिखाई दे रही है. जिसके चलते हर तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है. ग्रामीणों को भी समझ नहीं आ रहा है कि वह करें तो क्या करें. ऐसे में रेस्क्यू टीम ने मोर्चा संभालते हुए ग्रामीणों की सुरक्षा का जिम्मा अपने कंधों पर ले लिया है.

शिवपुरी के सिंध नदी उफान पर होने की वजह से बदरवास के पांच गांव पूरी तरह से पानी में समा गए हैं, जिसमें आदिवासी बस्ती में कई परिवार फंस गए हैं. ऐसे में एसडीआरएफ की टीम ने रात भर रेस्क्यू कर 118 आदिवासियो को सुरक्षित बाहर निकाल लिया है, वहीं अभी भी 50 आदिवासी परिवारों में छोटे-छोटे बच्चों सहित महिलायें भी पानी मे फंसे हुए हैं. मौके पर एसपी और कई अधिकारी मौजूद हैं. जिसमें 15 दिन की बच्ची भी शामिल है.

Madhya Pradesh: Rescue operations by State Disaster Response Force (SDRF) & District Administration underway in flood-affected regions of Shivpuri pic.twitter.com/eGs0P82Rgz

— ANI (@ANI) August 16, 2019

दरअसल, 24 घंटे की मूसलाधार बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर हैं. जिसमें सिंध नदी उफान पर होने से बदरवास के 5 गांवों में पानी भर गया, जिसमें कई आदिवासी परिवार फंस गए. देर रात एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर 118 आदिवासियों को बाहर निकाल लिया  है. वहीं अभी भी 50 आदिवासी परिवार पानी में फंसे हुए हैं. जिन्हें बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. बता दें इन इलाकों में छोटे-छोटे बच्चों सहित महिलाएं भी पानी में फंसे हुए हैं. इनमें 15 दिन की बच्ची सहित एक 2 माह की बच्ची शामिल हैं. वही स्कूल में रहने को मजबूर आदिवासी परिवार भी बाढ़ की मार से खासे परेशान हैं.