तमाम रात नहाया था शहर बारिश में, वो रंग उतर ही गए जो उतरने वाले थे। शहर क्या सूबे में दौर ए बारिश थमने का नाम ही नई ले रिया। झीलों का शहर लबालब है। इस पूरे नजारे को दिलकश तस्वीर और सीधे हेडिंग ‘50 दिन में कोटा पूरा’ के साथ पूरे झंके मंके के साथ नुमाया किया हे अखबार ने। हालांकि खबर को सिर्फ राजधानी तक ही समेट दिया और सूबे के हालातों को देखने आपको पन्ने पलटने पड़ेंगे। कश्मीर का मुद्दा फिलवक्क्त गर्म हे और कल इसकी गूंज यूएन तक पहुंची। खबर को तरीके से खेला हे। लाल किले से वजीर ए आलम का चीफ आॅफ डिफेंस स्टाफ बनाने का ऐलान किए जाने की  खबर भी पेले पेज का हक रखती हे।  भास्कर खास में  इंदौर के पीरपीलिया गांव में शहीद के परिजनों को 11 लाख रुपए से घर बनाकर देने की खबर दिल छूने वाली है। सिटी पेज पर यादगारे शाहजहानी पार्क को लेकर अखबार अपने अभियान पर आज भी हे। सिटी पेजों पर एक भी बायलाइन न होना बता रिया हे कि रिपोर्टर अभी छुटÞटी की खुमारी में हें।