उत्तराखंड पुलिस ने पॉपुलर चीनी शॉर्ट-फॉर्म वीडियो प्लेटफॉर्म TikTok को ज्वाइन कर लिया है. इसके तहत पुलिस का उद्देश्य लोगों से सीधे जुड़ना है. आपको बता दें कि इससे पहले केरल पुलिस ने पिछले महीने TikTok में अपनी एंट्री ली थी और अब इनके 2.25 लाख से भी ज्यादा फॉलोअर्स हैं.

सीनियर पुलिस ऑफिसर अशोक कुमार ने एक स्टेटमेंट में कहा कि हमारा मानना है कि TikTok पर होने से लोगों के बीच हमें आसानी से स्वीकार्यता मिलेगी और हम आम जनता से व्यक्तिगत स्तर पर जुड़ सकेंगे. उन्होंने आगे कहा कि उत्तराखंड पुलिस इस प्लेटफॉर्म के जरिए रोड सेफ्टी, साइबर सिक्योरिटी, वूमन सेफ्टी और दूसरे सामाजिक मुद्दों को लेकर अवेयरनेस वीडियो शेयर करना चाहती है.

स्टेटमेंट में आगे बताया गया कि उत्तराखंड पुलिस इस TikTok अकाउंट के जरिए युवाओं के लिए अलग-अलग सामाजिक मु्द्दों को लेकर वीडियो क्रिएट करेगी और पोस्ट करेगी. साथ ही TikTok पर पॉपुलर क्रिएटर्स से संपर्क भी बनाएगी ताकि पुलिस के मैसेज को काफी प्रभावी तरीके से लोगों के बीच पहुंचाया जा सके. ऑफिसर ने कहा कि हम ऐप पर अपने वीडियो के साथ उत्तराखंड राज्य में सकारात्मक माहौल बनाने के लिए तैयार हैं.

TikTok के बारे में बात करें तो ये एक शॉर्ट वीडियो मेकिंग प्लेटफॉर्म है. यहां यूजर्स शॉर्ट वीडियो क्रिएट कर उसे शेयर भी कर सकते हैं. साथ ही यहां यूजर्स को एडिटिंग का भी ऑप्शन मिलता है. फिलहाल भारत में इसके 200 मिलियन से भी ज्यादा यूजर्स हैं.

24 सवालों का सेट
पिछले महीने सरकार ने Tiktok और Helo को 24 सवालों के सेट के साथ नोटिस जारी किया था. ये नोटिस कथित तौर पर प्लेटफॉर्म का उपयोग एंटी नेशनल एक्टिविटीज के लिए करने के संबंध में जारी किया गया था. कंपनी ने इस नोटिस का जवाब दिया था.

इसके अलावा अप्रैल के महीने में मद्रास हाई कोर्ट ने केंद्र को निर्देश दिया था कि वे TikTok ऐप को बैन करें. कोर्ट ने कहा था कि ये ऐप पोर्नोग्राफी और भद्दे कंटेंट्स को बढ़ावा दे रहा है. बाद में इस ऑर्डर को हटा लिया गया है और ऐप की ऐप स्टोर में वापसी हुई.