प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को दो दिवसीय दौरे पर भूटान पहुंचे जहां उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद उन्होंने थिंपू में स्थित होटल ताज ताशी में भारतीय मूल के लोगों से मुलाकात की। यहां लोगों ने मोदी-मोदी के नारे लगाए।

इससे पहले पारो से थिंपू के रास्ते पर भारत और भूटानी झंडे लिए लोग खड़े हुए दिखाई दिए। इसके बाद प्रधानमंत्री भूटान के राजा जिग्मे खेसर नामग्याल वांगचुक से मिलने के लिए महल पहुंचे जहां उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

A memorable welcome in Bhutan! This is a land blessed with natural beauty and wonderful people. There is immense enthusiasm here and the people of Bhutan want to see the India-Bhutan friendship scale newer heights of success. @PMBhutan pic.twitter.com/ELNWjLGEL0

— Narendra Modi (@narendramodi) August 17, 2019

17 से 18 अगस्त तक चलने वाली इस यात्रा के दौरान दोनों देश द्विपक्षीय संबंधों सहित आपसी हितों से जुड़े विभिन्न विषयों पर व्यापक चर्चा करेंगे। जिसमें पनबिजली क्षेत्र में सहयोग सहित दोनों देशों के लोगों के बीच संपर्क बढ़ाने का विषय भी शामिल हो सकता है। दौरे से पहले भूटान ने 15 अगस्त को प्रधानमंत्री की सराहना करते हुए कहा था कि वह ऐसे शख्स हैं जो भारत को आगे ले जाना चाहते हैं।

འབྲུག་ལུ་འོང་བའི་དྲན་ཐོ། འབྲུག་རྒྱལ་ཁབ་དེ་མཛེས་པ་རང་བཞིན་བཞིན་ལྷུན་གྲུབ་ཀྱི་རྒྱལ་ཁབ་གཅིག་དང་མི་སེར་ཚུ་ཡང་ཡ་མཚན་ཆེ་བའི་ཞི་འཇམ་ཨིན་མས། pic.twitter.com/kROTgyJimr

— Narendra Modi (@narendramodi) August 17, 2019

शुक्रवार को प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भूटान की उनकी दो दिवसीय यात्रा दोनों देशों के बीच समय की कसौटी पर खरी उतरने वाली मित्रता को और बढ़ावा देगी और एक समृद्ध भविष्य के लिए इसे मजबूत करेगी।