लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित उत्तर प्रदेश प्रोन्नत पीसीएस अधिकारी संघ अधिवेशन में शामिल हुए. इस दौरान उन्होंने पीसीएस अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि इंसान जितनी प्रतिबद्धता से कार्य करता है, उसकी कार्य क्षमता उतनी ही बढ़ती है. ना मैं हमेशा सीएम रहूंगा ना, आप हमेशा अधिकारी रहेंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जो अधिकारी अच्छा काम करते हैं, उन्हें लोग सदैव याद करते हैं. मैं रोज 17-18 घंटे काम करता हूं, अगर मैं अच्छा काम करुंगा तो हमेशा याद किया जाऊंगा.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सभी अधिकारियों की भूमिका महत्वपूर्ण है. सोना जितना तपता है वो उतना ही शुद्ध होता है. उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार में प्रमोशन में तेजी आई है. इसके साथ ही सरकार ने कई नियमों में भी बदलाव किया है ताकि कोई भी कर्मचारी और अधिकारी प्रताड़ित ना हो. उन्होंने कहा कि जनता की सेवा से बढ़कर कोई धर्म नहीं है और प्रोन्नत अधिकारी जिस संवर्ग से जुड़े हैं वह सीधे जनता से जुड़े हैं और अपने दायित्वों के निर्वहन से वह आम जनता की समस्याओं का बेहतर ढंग से समाधान निकाल सकते हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें खुद को सिर्फ वेतन तक ही सीमित नहीं रखना चाहिए. कई अधिकारी समय से दफ्तर नहीं आते हैं. हमारी सरकार ने किसी अधिकारी और कर्मचारी का प्रमोशन रुकने नहीं दिया. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिकायत पोर्टल पर शिकायतों को बिना पढ़े ही निस्तारित लिख दिया जाता था.

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता की 90 फीसदी समस्याएं राजस्व और पुलिस विभाग से संबंधित हैं. सरकार अधिकारियों को हर तरह की सहूलियत देने का काम कर रही है इसलिए अफसर भी जनता की समस्याओं के निराकरण में पूरी प्रतिबद्धता से कार्य करें. जब तक शिकायतकर्ता संतुष्ट ना हो तब तक निस्तारण ना माना जाए. आम जनता संतुष्ट है तभी माने कि आप अच्छा काम कर रहे हैं.