हांगकांगः हांगकांग में चीन के खिलाफ तीन महीनों से लगातार जारी प्रदर्शनों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा घटनाक्रम में एक हजार से अधिक स्कूल शिक्षकों ने शनिवार को सरकार विरोधी प्रदर्शनों का ऐलान किया जो एक सप्ताह तक चलेंगे। हालांकि कुछ प्रदर्शनकारियों को डर था कि पुलिस उनके खिलाफ सड़कों पर कठिन रणनीति अपना सकती हैं। पिछले कुछ दिनों के दौरान प्रदर्शन के दौरान हिंसा में वृद्धि देखने को मिली।

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वे एक देश, दो सिस्टम व्यवस्था के लिए लड़ रहे हैं, जिसने हांगकांग के लिए कुछ स्वायत्तता सुनिश्चित की क्योंकि चीन ने इसे 1997 में ब्रिटेन से वापस ले लिया था। पिछले सप्ताह के दौरान उन्होंने पुलिस के प्रति आक्रोश दिखाया। दरअसल, पुलिस ने उन्हें सड़कों से हटाने के लिए उग्रता के साथ जवाब दिया। 40 वर्ष एक स्थानीय माध्यमिक विद्यालय में संगीत शिक्षिका यू ने कहा कि वह छात्रों के विरोध का समर्थन करती है। हालांकि वह फिर भी उनके द्वारा उठाए गए सभी कार्यों से सहमत नहीं थी। उन्होंने कहा कि मैं उनके साहस की सराहना करती हूं और हांगकांग के बारे में परवाह करती हूं।

बता दें कि शिक्षकों की रैली को पुलिस ने अनुमति दे दी थी और उनकी रैली बेहद ही शांतिपूर्ण थी। केंद्रीय व्यापार जिले में इकट्ठा होने के बाद उन्होंने हांगकांग के दूतावास नेता कैरी लैम के सरकारी आवास तक मार्च किया और नारा लगाया कि 'हांगकांग पुलिस कानून जानती है, वे कानून तोड़ते हैं'। इससे पहले रिपोर्टों में यह कहा गया था कि हांगकांग में लोकतंत्र समर्थकों ने अपने प्रदर्शन की रणनीति बदल दी है। वे अब पुलिस-प्रशासन से सीधे भिड़ने के बजाय ‘हिट एंड रन’ की तरह प्रदर्शन को अंजाम दे रहे हैं।