राजनीतिक संवाददाता, भोपाल : पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के जन्मदिन को लेकर दिल्ली में होने वाले कार्यक्रम में शामिल नहीं होना कांग्रेस नेताओं को भारी पड़ सकता है। वे बिना किसी कारण के यदि अनुपस्थित रहे तो उन पर गाज भी गिर सकती है। प्रदेश कांग्रेस ने दिल्ली के कार्यक्रम में आमंत्रित हर नेता को इस संबंध में सूचित कर दिया है।

पीसीसी से जारी पत्र में बताया गया है कि 22 अगस्त को होने वाले कार्यक्रम में जो आमंत्रित हैं, उन्हें अपने दिल्ली जाने की जानकारी पीसीसी को भी देना होगी। यह निर्देश खुद पीसीसी चीफ एवं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दिए हैं। हालांकि इसमें ऐसा नहीं लिखा गया है कि नहीं जाने वाले पर एक्शन लिया जाएगा, लेकिन पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने तय किया है कि बिना कारण के जो नेता वहां पर अनुपस्थित रहेगा उसे नोटिस जारी कर यह पूछा जाएगा कि वह कार्यक्रम में शामिल क्यों नही हुए और इसकी जानकारी पीसीसी को क्यों नहीं दी।

इनको है बुलाया: 22 अगस्त को दिल्ली के इंदिरा गांधी एडोटोरियम में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में एआईसीसी के कार्यसमिति सदस्य,स्थायी आमंत्रित सदस्य, विशेष आमंत्रित सदस्य,पीसीसी चीफ, एआईसीसी के सचिव, प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष, लोकसभा-राज्यसभा सदस्य, एआईसीसी के प्रतिनिधि, विधायक, जिला कांग्रेस अध्यक्ष, विभाग-प्रकोष्ठ के चेयरमेन, मोर्चा संगठन के प्रदेश एवं जिला अध्यक्ष, पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, पूर्व नेता प्रतिपक्ष, प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारी, प्रदेश कांग्रेस प्रतिनिधि, नगर निगम-पालिका, जिला पंचायत, जनपद पंचायत के अध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष, पार्षदों को अनिवार्य रूप से  समारोह में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं।