केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर पाकिस्तान की बौखलाहट पर चेतावनी दी है. रक्षा मंत्री ने कहा है भारत के खिलाफ पाकिस्तान आतंकवाद फैला बंद कर दे, नहीं तो हम किसी भी तरह के हालात से निपटने के लिए तैयार हैं. उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि अगर भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत होती है तो वह केवल पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) पर होगी.

राजनाथ सिंह ने कहा कि कुछ दिनों पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि भारत बालाकोट एयर स्ट्राइक से बड़े हमले की तैयारी में है. इसका यह मतलब है कि पाकिस्तान मानता है कि भारत ने पाकिस्तान एयर स्ट्राइक किया था.

राजनाथ सिंह ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 में परिवर्तन राज्य में विकास करने के लिए किया गया है. पाकिस्तान दुनिया का दरवाजा खटखटा रहा है कि भारत ने गलत किया है. पाकिस्तान के साथ बातचीत तभी संभव है, जब पाकिस्तान आतंकवाद का समर्थन बंद करे. अगर भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत होती है तो वह केवल पाक अधिकृत कश्मीर पर होगी.'

उन्होंने आगे कहा, 'जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 लगा था. भारत आजाद हो गया था फिर भी भारत में दो संविधान, दो निशान थे. पहले हालात कुछ और थे, दो संविधान और दो विधान ही नहीं थे, बल्कि दो निशान भी थे. हमारे प्रधानमंत्री ने फैसला किया कि यह नहीं चलेगा. अनुच्छेद 370 के साथ-साथ 35 ए को भी खत्म कर दिया.'

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि लोग कहते थे कि अनुच्छेद 370 को अगर टच भी करेंगे तो देश बंट जाएगा, लोग कहते थे कि भारतीय जनता फिर सत्ता में नहीं आ पाएगी. बीजेपी सत्ता बनाने के लिए राजनीति नहीं करती है, बीजेपी देश बनाने के लिए राजनीति करती है.

'पाकिस्तान हो रहा दुबला'
राजनाथ सिंह ने कहा कि धारा 370 खत्म होने के बाद हमारा एक पड़ोसी है पाकिस्तान. धारा 370 हमने समाप्त किया, हमारा पड़ोसी दुबला होता जा रहा है. उसका हाजमा खराब हो गया है. अब वह दुनिया में हर देश के पास जाकर कह रहा है कि भारत ने गड़बड़ किया है. क्या गड़बड़ किया है हम लोगों ने?

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान रह-रहकर धमकी भी देता है. अमेरिका, जिसे दुनिया का सबसे ताकतवर देश लोग मानते हैं, वहां से भी पाकिस्तान को फटकार लग चुकी है. अमेरिका सलाह दे चुका है कि कश्मीर पर भारत से बातचीत कर समस्या निपटाओ.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी की 'जन आशीर्वाद यत्रा' में शामिल होने कालका पहुंचे थे. वहां उन्होंने एक जनसभा को संबोधित करते हुए ये बाते कहीं. उनके साथ जनसभा में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी मौजूद रहे. कालका से ही जन आशीर्वाद यात्रा को हरि झंडी दिखाकर रवाना किया गया.

इमरान ने जताया था डर
दरअसल, पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर इमरान खान ने कहा था कि भारत सिर्फ कश्मीर पर रुकने वाला नहीं है, हमें रिपोर्ट्स मिली हैं कि ये PoK में भी आ सकते हैं. इमरान खान ने कहा था कि अगर भारत और पाकिस्तान के बीच जंग के हालात बनते हैं, तो इसके लिए दुनिया जिम्मेदार होगी और संयुक्त राष्ट्र जिम्मेदार होगा. इमरान खान ने यह भी कहा था कि भारत 26 फरवरी को हुए बालाकोट हमले से ज्यादा बड़े हमले की तैयारी में है.

हालांकि अब तक पाकिस्तान दावा करता रहा है कि भारतीय सेना की एयर स्ट्राइक से कोई नुकसान नहीं हुआ था. पाकिस्तान ने कहा था कि भारतीय वायुसेना के हमलों में क्षेत्र के कुछ ही पेड़ ही तबाह हुए हैं. पाकिस्तान ने उस साइट पर किसी को जाने से मना किया था.

हाल ही में राजनाथ सिंह ने बयान दिया था कि भारत की न्यूक्लियर पॉलिसी परिस्थितियों पर निर्भर करती है. हम पहले किसी पर न्यूक्लियर हमला नहीं करेंगे, में बदलाव कर सकते हैं.