शादी की जब भी बात होती है तो कुछ लड़कियां अक्सर बीमारी पड़ जाती है या बहुत ही घबरा जाती है। लड़की को इस हालात में देखकर पेरेंट्स व परिवारों को लगता है कि शायद शादी होने के कारण वह डर रही है या थोड़ा घबरा रही है लेकिन यह गामोफोबिया हो सकता है। गामोफोबिया एक तरह का फोबिया होता है यानि की शादी की कमिटमेंट करने का डर या अन्य किसी ओर तरह का कमिटमेंट। आज हम आपको इस फोबिया के लक्षम के बारे में बताएंगे।

क्या है गामोफोबिया ?
आम भाषा में समझा जाए तो शादी का डर। कुछ लड़़कियों में यह हद से ज्यादा कई बार तो कंट्रोल से बाहर होता है। वह अपने नए जीवन को लेकर किसी भी तरह की कमिटमेंट करने से डरते है। कई बार यह डर इतना बढ़ जाता है कि लड़कियों को मेडिकल की जरुरत पड़ती है। यह डर शादी से लेकर शादी के बाद सेटल व पार्टनर के साथ खुश रहने का डर होता है। वह सोच कर ही डर जाते है कि वह किस तरह से खुद को हैंडल करेगीं। ऐसे में उन्हें शारीरिक व मानसिक तौर पर काफी तकलीफ होती है।

क्यों होता है गामोफोबिया

  1. किसी करीबी को छोड़ कर जाने का डर
  2. अपनो को लेकर असुरक्षित महसूस करना
  3. डिप्रेशन
  4. अपने पेरेंट्स के साथ बहुत ही प्यार होना
  5. खुद को नुकसान पहुंचाने की आदत

लक्षण

  1. शादी के ख्याल से ही डर जाना।
  2. एंग्जायटी
  3. बुरे ख्याल आना
  4. खुद पर कंट्रोल खो देना
  5. बहुत ज्यादा गुस्सा आना
  6. सीने में दर्द होना
  7. उल्टी, चक्कर आना
  8. सांस लेने में दिक्कत होना
  9. किसी नए के साथ इमोशनल तौर पर कनेक्ट न हो पाना
  10. सही पार्टनर चुनने में दिक्कत होना

इलाज
मानसिक तरह की बीमारियों को थेरेपी व दवाइयों से ठीक किया जा सकता है, लेकिन इसे जड़ से ठीक नही किया जा सकता है। व्यक्ति को खुद ही अपने इस डर पर कंट्रोल पाने की जरुरत होती है।