नई दिल्ली: अफगानिस्तान के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद शहजाद एक साल तक क्रिकेट नहीं पाएंगे. अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने शहजाद को बोर्ड के कॉड ऑफ कंडक्ट तोड़ने का दोषी पाते हुए एक साल के लिए सस्पेंड कर दिया है. बोर्ड के इस कदम की वजह से शहजाद एक साल तक किसी भी तरह के क्रिकेट में हिस्सा नहीं ले सकते.

नियम के मुताबिक किसी भी खिलाड़ी को देश छोड़ने से पहले बोर्ड की इजाजत लेनी होती है. वहीं शहजाद हाल ही में पाकिस्तान के पेशावर में ट्रैनिंग करते हुए नज़र आए थे. बोर्ड के अधिकारियों ने साफ किया कि अफगानिस्तान में ट्रैनिंग के पूरे प्रबंध हैं, इसलिए खिलाड़ियों को दूसरे देश में जाने की कोई जरूरत नहीं है. पिछले साल पर शहजाद पर कॉड ऑफ कंडक्ट तोड़ने के चलते एक साल का प्रतिबंध लगा था.

पेशावर से है खास रिश्ता
बता दें कि शहजाद ने अपनी जिंदगी के शुरुआती साल पेशावर के रिफ्यूजी कैंप में गुजारे हैं, हालांकि उनके माता-पिता अफगानिस्तान से ही थे. अफगान क्रिकेट टीम के ज्यादातर खिलाड़ी पाकिस्तान के बॉर्डर के नजदीकी इलाकों से ही हैं. शहजाद की शादी भी पेशावर में ही हुई है.

वर्ल्ड कप में भी हुआ विवाद
वर्ल्ड कप के दौरान भी शहजाद को विवादों का शिकार होना पड़ा. वर्ल्ड कप के शुरुआती दो मैचों के बाद शहजाद चोट के चलते वर्ल्ड कप से बाहर हो गए थे. लेकिन काबुल पहुंचने पर शहजाद ने कहा कि वह चोटिल नहीं थे, बल्कि बोर्ड ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया. इतना ही नहीं शहजाद ने कहा था कि अगर बोर्ड नहीं चाहता तो वह क्रिकेट को पूरी तरह से अलविदा कह देंगे.