नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने दंगा करने और अवैध रूप से एकत्र होने के आरोप में भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद समेत 96 लोगों को गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आजाद को गुरुवार को अदालत में पेश किया जाएगा.

रविदास मंदिर गिराए जाने के विरोध में दलितों का प्रदर्शन हिंसक हो गया था, जिसके कारण पुलिस को भीड़ को तितर-बितर करने के लिए "हल्का लाठीचार्ज" और आंसू गैस का इस्तेमाल करना पड़ा. इसके बाद चंद्रशेखर और करीब 95 अन्य को बुधवार रात तुगलकाबाद इलाके से हिरासत में लिया गया.

दक्षिणी रेंज के संयुक्त पुलिस आयुक्त देवेश श्रीवास्तव ने कहा, "दंगा करने, अवैध रूप से एकत्र होने, लोकसेवक को उसका कर्तव्य पूरा करने से रोकने के लिए जानबूझकर चोट पहुंचाने, सार्वजनिक सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने और अन्य आरोपों में प्राथमिकी दर्ज की गई है. चंद्रशेखर को 95 अन्य प्रदर्शनकारियों के साथ गिरफ्तार किया गया है."

अधिकारी ने कहा कि वे इलाके में चौकसी बरत रहे हैं और हालात पर नजर रखे हुए हैं. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर दिल्ली विकास प्राधिकरण ने 10 अगस्त को मंदिर गिराया था. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को मंदिर स्थल तक जाने की अनुमति नहीं दी थी जिसके कारण प्रदर्शनकारी हिंसक हो गए.

पुलिस के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने दो मोटरसाइकिलों में आग लगा दी और कारों एवं पुलिस वाहन में तोड़-फोड़ की. इस घटना में कुछ पुलिसकर्मी घायल हो गए. प्रदर्शनकारी मांग कर रहे हैं कि सरकार तुगलकाबाद में भूखंड समुदाय को सौंपे और मंदिर का पुनर्निर्माण कराया जाए.