चिदंबरम पांच घंटे तक कटघरे में खड़े रहे। सब वखत-वखत की बात हेगी खां। टीचरों के आॅनलाइन तबादलों से कई के ट्रान्सफर होल्ड पर रखने से उपजे हालात वाली खबर मुकम्मल रही। टेÑन में अटैक या प्रसव पीड़ा पे रेलवे के इंतजाम बयां करती खबर भी यहां है। जेपी के आरामतलब डाक्टर आज भी लंच के पहले ही ओपीडी छोड़ देते हैं। खबर सिस्टम पे सवाल उठाती है। जिनकी सदबुद्धी के लिए अटल बिहारी विवि का अमला यज्ञ कर रहा था वही कुलपति आहुति देने पहुंच गए। रोचक खबर। 12 वीं पास करने के बाद तीन लाख छात्र कालेज में नहीं गए। जाहिर है बच्चे पढ़ाई छोड़ रहे हैं।