नई दिल्ली: संकटग्रस्त सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया के ऊपर तीन तेल विपणन कंपनियों का करीब 4,500 करोड़ रुपये बकाया है. बकाये के भुगतान में करीब सात महीने की देर हो चुकी है जिसके चलते तेल विपणन कंपनियों को आपूर्ति रोकने को बाध्य होना पड़ रहा है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी.

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम ने देश के छह हवाई अड्डों कोच्चि, पुणे, पटना, रांची, विशाखापत्तनम और मोहाली में एयर इंडिया को विमानन ईंधन देना बंद कर दिया है. तेल विपणन कंपनियों में से एक कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘एयर इंडिया को 90 दिन तक की अवधि में भुगतान करना होता है. बकाये का भुगतान नहीं करने के कारण यह अवधि बढ़कर 200 दिन तक पहुंच चुकी है.’’

अन्य कंपनी के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘उन्होंने (एयर इंडिया) ने 60 करोड़ रुपये भुगतान करने की पेशकश की. यह ऊंट के मुंह में जीरा के समान है.’’तीनों तेल विपणन कंपनियों ने एक सप्ताह से पहले ही एयर इंडिया को संयुक्त पत्र लिखकर बकाया भुगतान करने की मांग की थी.

अधिकारी ने कहा, ‘‘एयर इंडिया भुगतान के बारे में स्पष्ट रूपरेखा प्रदान करने में असफल रही. इसके कारण हमें आपूर्ति रोकने पर बाध्य होना पड़ा.’’ एक अन्य अधिकारी ने कहा कि एयर इंडिया को सरकार से मदद मिलती है लेकिन हमें ऐसी कोई मदद नहीं मिलती.