प्रदेश कांग्रेस का अपने वचन पत्र में किया गया एक महत्वपूर्ण वादा तय समय में पूरा होता नहीं दिख रहा है। इस वादे को यदि तय समय में पूरा किया गया तो 115 दिन के भीतर प्रदेश पुलिस में खाली पड़े 22 हजार से ज्यादा पदों को भरना होगा। खाली पड़े पदों के कारण प्रदेश में प्रति दस हजार व्यक्ति पर पुलिस बल भी एक साल में कम हुआ है।

पवन वर्मा, भोपाल
विधानसभा चुनाव से पूर्व कांग्रेस ने वादा किया था कि वह एक साल के भीतर पुलिस बल में वृद्धि करेगी। साथ ही यह भी कहा था कि राज्य पुलिस प्रशासनिक सेवा एवं उसके अधीन सभी संवर्गो के रिक्त पदों की पूर्ति की जाएगी। यह दोनों वादे एक साल के भीतर पूरा करने का कांग्रेस का वचन था। प्रदेश सरकार को 17 दिसंबर को एक साल पूरा हो रहा है। यानि अब से महज 115 दिन एक साल पूरा होने में बचे हैं। हालांकि, खाली पड़े अधिकांश पदों पर पदोन्नति के जरिए भरा जाएगा। जबकि आरक्षक, उपनिरीक्षक, सबूदार और डीएसपी के रिक्त पदों को भरने के लिए परीक्षा आयोजित करना होगी।

नहीं हुई अब तक परीक्षा
पिछली सरकार ने वर्ष 2018 में 5 हजार से ज्यादा आरक्षक और उपनिरीक्षक के करीब 400  पदों पर भर्ती की स्वीकृति दी थी। इस स्वीकृति को एक साल पूरा होने जा रहा है। इन दोनों पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा कब होगी, अब तक यह तय ही नहीं हो सका है।

प्रदेश में कम हो गया दस हजार व्यक्तियों पर पुलिस बल
प्रदेश में वर्ष 2018 तक दस हजार व्यक्ति पर करीब 16 पुलिसकर्मी थे। लेकिन इन एक साल में कई पदों से रिटायरमेंट और अन्य कारणों से अब यह कम होकर दस हजार व्यक्ति पर करीब 15 पुलिसकर्मी का आंकड़ा पहुंच गया है।

किस रैंक के कितने पद खाली

एएसपी                                                         53
डीएसपी                                                        246
निरीक्षक                                                       909
सूबेदार                                                         1095
उपनिरीक्षक                                                   783
सहायक उपनिरीक्षक                                       4829
प्रधान आरक्षक                                               8106
आरक्षक                                                        5404
प्रदेश में स्वीकृत कुल पद (आईपीएस छोड़कर)-    125197
प्रदेश में मौजूदा बल (आईपीएस छोड़कर)-           102720