नई दिल्‍ली : जम्‍मू और कश्‍मीर से मोदी सरकार की ओर से हटाए गए अनुच्‍छेद 370 के बाद वहां के हालात जानने के लिए विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल राहुल गांधी के साथ आज श्रीनगर जा रहा है. 12 विपक्षी नेताओं वाले प्रतिनिधिमंडल के साथ राहुल गांधी दिल्‍ली एयरपोर्ट से श्रीनगर रवाना हो गए हैं. लेकिन सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि राहुल गांधी समेत सभी कांग्रेसी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकलने दिया जाएगा. उन्‍हें श्रीनगर एयरपोर्ट से वापस दिल्‍ली भेज दिया जाएगा.

Congress leader Rahul Gandhi onboard flight to Srinagar. A delegation of Opposition leaders, including Rahul Gandhi, are visiting Jammu & Kashmir today. pic.twitter.com/ixBkANgksg

— ANI (@ANI) August 24, 2019

Opposition leaders D Raja, Sharad Yadav,Majeed Memon and Manoj Jha onboard flight to Srinagar.Opposition delegation including Rahul Gandhi are visiting Jammu & Kashmir today. pic.twitter.com/a5gxyy2i2o

— ANI (@ANI) August 24, 2019

राहुल गांधी के साथ विमान से श्रीनगर जा रहे विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल में डी राजा, शरद यादव, माजिद मेमन और मनोज झा भी शामिल हैं. सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी और अन्‍य कांग्रेसी नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है.  जम्‍मू और कश्‍मीर प्रशासन ने राहुल गांधी के दौरे पर आपत्ति जताई है. प्रशासन का कहना है कि हम लोगों को आतंकवाद से बचाने में जुटे हैं. नेताओं के दौरे से जम्‍मू-कश्‍मीर के लोगों को परेशानी होगी.

श्रीनगर रवाना होने से पहले कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हम श्रीनगर कानून तोड़ने नहीं जा रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि अगर कश्‍मीर में हालात सामान्‍य हैं तो राजनीति नेताओं को घर से बाहर क्‍यों नहीं निकलने दिया जा रहा है. आजाद ने कहा कि हम कश्‍मीर जाकर सरकार की मदद करना चाहते हैं.

कांग्रेस नेताओं की इस यात्रा पर जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से कहा गया है कि सभी नेताओं से निवेदन है कि वह अभी श्रीनगर के दौरे से बचें. उनके कारण यहां पर लोगों को भी दिक्कतें हो सकती हैं. अभी भी कई क्षत्रों में कुछ पाबंदियां हैं. वहीं बीजेपी नेता मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि पॉलिटिकल पर्यटन बंद करना चाहिए. जम्‍मू और कश्‍मीर के लोग विश्वास के साथ बढ़ रहे हैं. आप अलगाववादियों को खुश करने के लिए ऐसा कर रहे हैं. पॉलिटिकल पर्यटन से कोई फायदा नहीं होगा.