नए किरदार आ रहे मगर नाटक पुराना चल रहा। सूबे में कांग्रेस की सरकार लंबे अरसे बाद बनी हे लेकिन इसके बावजूद पार्टी के बडेÞे चेहरे एक दूसरे की टांग खिंचाई में लगे हैं। किरदार भले ही नए हों लेकिन कांग्रेस में ये नाटक पुराना ही चल्लिया हे। कांग्रेस में कलह की खबर को अखबार ने पूरी नफासत से नुमाया किया हे। ‘प्रदेश की राजनीति के मूवर्स एंड शेकर्स’ हेडिंग से इस नाटक के हर किरदार को बखूबी बयां किया हे अखबार ने। टॉप बॉक्स में पर्यूषण पर्व पर आचार्य विद्यासागर जी की लेखनी इंसानियत का पैगाम दे रई हे। वायुसेना प्रमुख और अभिनंदन की उड़ान को भी पेले पेज आनाई था। मोटर व्हीकल एक्ट पर केंद्र और राज्य सरकार के बीच खिंची तलवार और चंद्रयान की खबर को भी पिरोपर स्पेस मिला हे। भोपाल फिरंट पेज पे वीआईपी रोड की सिंदूरी शाम को दिलकश अंदाज में कैद किया हे। शहरों की बदहाल सड़कों के हाल पर अखबार ने आज भी पूरा फोकस टिकाए रखा हे। सिटी पेजों पर एक अकेली बायलाइन अनूप दुबोलिया की हे।