तुम मेरे दोस्त हो, दुश्मन बन जाओ मगर खुदा के लिए सियासत मत करो। कांग्रेस के सियासी तूफान में दोस्त और दुश्मनों के चेहरे बदल रए हें। अखबार ने पूरे झंके मंके के साथ इस पैकेज को लीडरी सौंपी हे आज। सीएम कमलनाथ और सिंधिया के बयानों के साथ कांग्रेस विधायकों के अपने ही मंत्री पर लगाई तोहमत को पैकेज का हिस्सा बनना ही था। वहीं झाबुआ उपचुनाव के लिए भाजपा ने शंखनाद कर दिया हे। ये खबर दोनों पार्टियों की चुनावी तैयारियों में अंतर को साफ कर रई हे। कल राजधानी में दो घंटे में 21 सेमी बारिश हुई। खबर पेले पेज पर आनाई थी।  मुंबई जा रही कार से करोड़ों की बरामदगी की खबर भी पेले पेज का हक रखती थी। एंकर में मौत के 16 महीने बाद रेलकर्मी के तबादले की खबर लापरवाही की बानगी को बयां कर रई हे। सिटी पेज हमेशा की तरह रुटीन टाइप हें।