नई दिल्लीः इस्लामी स्कॉलर्स के भारत में सबसे बड़े संगठन जमीयत-ए-उलेमा हिंद ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने का समर्थन किया है. जमीयत-ए-उलेमा हिंद की वार्षिक बैठक में कश्मीर पर प्रस्ताव पारित किया गया है.  जमीयत उलेमा का कहना है कि पाकिस्तान कश्मीर को तबाह करने में जुटा है. हम कश्मीर के अलगाववादियों का समर्थन नहीं करते है. अलगावादी देश और कश्मीर दोनों के दुश्मन हैं और 370 पर हम देश के साथ है.

Mahmood Madani, Jamiat Ulema-e-Hind: We have passed a resolution today that Kashmir is an integral part of India. There will be no compromise with security and integrity of our country. India is our country and we stand by it. pic.twitter.com/pxhi2t4peH

— ANI (@ANI) September 12, 2019

जमीयत उलेमा हिंद के मौलाना महमूद मदनी ने मीडिया को बताया, 'आज हमने अपनी बैठक में प्रस्ताव पारित किया है कि कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है.देश की सुरक्षा और अखंडता के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा. यह भारत हमारा देश है और हम इसके साथ है.' मौलाना मदनी ने पाकिस्तान पर हमला करते हुए कहा, 'पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय पटल पर ऐसा संदेश देता है कि भारत का मुसलमान अपने देश के साथ नहीं है. हम पाकिस्तान की इस हरकत की निंदा करते है. '

मौलाना मदनी ने कहा, 'आज की जनरल कौंसिल की मीटिंग में पूरे देश से मेम्बर आये. करीब 3 हज़ार सदस्य आज की मीटिंग में शामिल हुए. आज की बैठक में सद्भावना मंच बनाया गया है, इसमें हिन्दू मुस्लिम सब सदस्य होंगे. कुछ ताकते ऐसा दिखाने की कोशिश कर रही है कि मुसलमान देश के साथ नहीं है. वो ताकते कभी कामयाब नही होगी. देश के मुस्लिम हमेशा देश के साथ थे, है और रहेंगे. हमने मदरसों को ये सलाह दी है कि जब मदरसों से कोई बच्चा पढ़कर निकले तो कम से कम दुनियावी लिहाज से वो 12 वीं तक की तालीम मदरसे में ही हासिल करके निकलें'

एनआरसी के सवाल पर मौलाना मदनी ने कहा, 'हम तो चाहते है पूरे देश मे एनआरसी हो ताकि पता चल जाए कि देश मे घुसपैठिया कितने हैं, सबको तसल्ली हो जाएगी