ऐमौज-ए-बला उन को भी जरा दो चार थपेड़े हल्के से, कुछ लोग अभी तक साहिल से तूफां का नजारा करते हैं। वे सभी गणेश को विसर्जित करने गए थे, लेकिन खुद की जान गंवा कर लौटे। छोटे तालाब में दो नांवों पर सवार 11 युवकों की मौत का दर्दनाक हादसा एक साथ कई सबक दे गया है। लेकिन सोये हुए प्रशासन से लेक र जनता जनार्दन तक शायद ही कोई इस लोमहर्षक घटना से सबक लेगा। इत्ती बड़ी घटना के बाद जब 11 चिराग बुझ गए शहर अपनी रफ्तार से चल रहा है। कलेक्टर साब ने मजिस्ट्रियल जांच बैठा दी है। निगम ने अपने लापरवाह फायर आफिसर साजिद खान को सस्पेंड कर दिया है और कलेक्टर ने एक आरआई को।  भास्कर ने पूरी शिद्दत के साथ खबर को पेश किया। परवेज नामक गणेश भक्त बच्चे की दास्तांन मार्मिक आई। अगले सफे पे जलती चिताओं के फ ोटू की गर्मी कोई भी मेहसूस कर सकता है।