किचन के खाने से पूरी फैमिली की सेहत जुड़ी होती है इसलिए खाना बनाते वक्त साफ-सफाई का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता ह। मगर खाना बनाने वाले बर्तनों में भी परिवार की हेल्थ डिपेंड करती है। इस बात पर ध्यान देने की बहुत जरूरत होती है कि आप किस बर्तन में खाना बना रही हैं। आज हम आपको लोहे के बर्तनों में खाना बनाने के फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे।

क्या फायदेमंद है लोहे के बर्तन में खाना पकाना?
पुराने समय में लोग भोजन पकाने के लिए मिट्टी और लोहे के बर्तनों का ही यूज करते थे लेकिन समय के साथ नॉन-स्टिक बर्तनों ने इनकी जगह ले ली। मगर लोहे के बर्तनों जैसे कढ़ाई आदि में खाना पकाना सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। जब आप लोहे के बर्तनों में खाना पकाती हैं, तो यह धातु की सतह के साथ प्रतिक्रिया करता है। तब इसमें से ऐसे तत्व निकलते हैं, जो एनीमिया के साथ कई हैल्थ प्रॉब्लम्स से छुटकारा दिलाते हैं।

इसलिए भी फायदेमंद है लोहे के बर्तन
स्वास्थ्य लाभों के अलावा, कई महिलाएं लोहे के बर्तनों में खाना पकाना इसलिए भी पसंद करती हैं, क्योंकि ये धीमी आंच पर खाना पकाने के लिए सही रहते हैं। साथ ही लोहे के बर्तन सभी तरफ से समान रूप से गर्म होते हैं।
एनीमिया की समस्या होगी दूर

जब आप लोहे के बर्तन में खाना बनाती हैं तो इसके अंश भोजन में मिलकर शरीर में पहुंचते हैं जो रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाते हैं।इससे एनीमिया (खून की कमी) जैसी समस्याओं से बचाव व उपचार होता है।

लोहे के बर्तन के अन्य फायदे
इसमें बना खाना खाने से शरीर में होने वाले हर तरह के दर्द से छुटकारा मिलता है।
इससे शारीरिक कमजोरी वह थकान की समस्या भी दूर हो जाती है।
अगर आपको जोड़ों या घुटनों में दर्द की समस्या रहती है तो वो भी इससे दूर हो जाएगी।
मासिक धर्म से जुड़ी दिक्कतों भी दूर होती है।
इससे पेट से जुड़ी दिक्कतें जैसे गैस्ट्रिक की परेशानी भी दूर हो जाती है।

इन बातों का रखें ध्यान
खट्टे या एसिड वाले भोजन लोहे के साथ प्रतिक्रिया कर सकते हैं इसलिए, कढ़ी, रसम, सांभर या फिर टमाटर से बनने वाली चीजों के लिए स्टेनलेस स्टील बर्तनों का यूज करें।
लोहे के बर्तनों को हल्के डिटर्जेंट से धोएं और तुरंत पौंछ दें। खुरदरे स्क्रबर या लोहे के जूने का इस्तेमाल न करें।
इन बर्तनों को स्टोर करने से पहले वनस्पति तेल लगा दें, ताकि जंग न लग सके।
हमेशा बर्तन को साफ और सूखी जगह पर रखें, जहां पानी और नमी न हो।
लोहे के बर्तनों में पानी या फिर कोई अन्य पेय न रखें क्योंकि लोहा नमी के साथ प्रतिक्रिया करता है।