खबरों की जमावट भेतरीन है फ्रंट पे। मसलन बारिश से गारंटी वाली सड़कों के उधड़ने और सूबे में दस हजार करोड़ की बर्बादी वाली खबर उम्दा आई। जम्मू कश्मीर के हालात बयां करती खबर भी यहां है। एक करोड़ से ज्यादा के भुगतान पर व्यापारियों को टीडीएस नहीं देने वाली खबर पढ़ी जाएगी। मुस्कुराइए आप गड्ढों की राजधानी में हैं। भोत जानदार सजाया गया पूरा पेज। अबरार खान के  फोटू का जवाब नहीं। नीलबड़,रातीबड़ में भूकंप होता तो कुत्ते भोंकने लगते और पक्षी भी बेचैन होते। तर्क सटीक है। जिन बच्चों को मदरसे में बांध कर रखा जाता था उनकी पीठ पर चोट के निशान मिले हैं। सटीक फालोअप। सिंथेटिक दूध और मावे के सेंपल पे सवाल उठ रहे हैं। खबर भरपूर सेट हुई। भोत दिनों बाद धूप खिली बाकी शाम को शहर में हुई झमाझम ने मौसम फिर बदल दिया। यूरिया आपूर्ति को लेकर सरकार की सतर्कता वाली खबर जानदार रही। संत समागम वाला आईटम भी जपाट आया।