मोहाली: टीम इंडिया में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में रोहित शर्मा को शामिल किया गया है. रोहित की यह टेस्ट टीम में लंबे समय बाद वापसी मानी जा रही है. वनडे और टी20 में शानदार रिकॉर्ड के धनी पिछली कुछ समय से टेस्ट क्रिकेट में ज्यादातर लड़खड़ाते नजर आए जिसकी वजह से यहां तक कहा जाने लगा था कि वे टेस्ट क्रिकेट के लिए बने ही नहीं है. इस बीच रोहित वनडे और टी20 में बेहतरीन प्रदर्शन करते रहे. रोहितके टेस्ट में चुने जाने को लेकर टीम इंडिया के बैटिंग कोच विक्रम राठौर का कहना है कि उन जैसे बढ़िया खिलाड़ी को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता.

राठौर हाल ही में टीम इंडिया के बल्लेबाजी कोच बने हैं. उन्होंने संजय बांगर की जगह चुना गया है. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज के बाद टीम इंडिया को तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है जो कि दो अक्टूबर से शुरू होगी. राठौर का मानना है कि ऐसा कोई कारण नहीं है कि रोहित जैसा बल्लेबाज टेस्ट में सफल नहीं हो सकता.

Upcoming T20Is will help in preparation for 2020 T20 World Cup, reckons #TeamIndia batting coach Vikram Rathour pic.twitter.com/lPcVDPrpW2

— BCCI (@BCCI) September 17, 2019

राठौर ने कहा, "रोहित जैसे शानदार खिलाड़ी को टीम में खेलने से नहीं रोका जा सकता. टीम में सभी की यही राय है. वे सीमित ओवर क्रिकेट में शानदार ओपनर हैं. इसलिए कोई कारम नहीं बनता कि वे टेस्ट में सफल क्यों नहीं हो सकते. यदि उनकी रणनीति सही रही तो वे टीम के लिए एक बड़े खिलाड़ी हो सकते हैं."

राठौर ने कहा कि नई जिम्मेदारी संभालने के बाद उन्होंने पूरी टीम से बात की और वे टीम के माहौल में ढलने में कोई परेशानी नहीं हो रही है. इसमें कुछ समय जरूर लगेगा. राठौर ने टीम इंडिया में बहुत से ऑलराउंडर होने पर खुशी जाहिर की और इसके साथ ही मनीष पांडे और श्रेयस अय्यर की भी जमकर तारीफ करते हुए कहा कि दोनों बढ़िया खेल रहे हैं बस उन्हें निरंतरता की जरूरत है. उन्होंने कहा कि टीम के हर खिलाड़ी को अपने मौके भुनाने होंगे. सभी ने काफी मैच खेले हैं. पूरी टीम एक दूसरे को सपोर्ट कर रही है. राठौर ने विश्वास जताया कि टीम अच्छे नतीजे देगी.