नई दिल्ली: एक समय टीम इंडिया के लिए खेल चुके दिनेश मोंगिया ने क्रिकेट के सभी फॉर्मट से संन्यास ले लिया है. उन्होंने मंगलवार शाम को इसकी घोषणा की. मोंगिया टीम इंडिया में एक ऑलराउंडर के तौर पर चुने गए थे. वे बाएं हाथ के बल्लेबाजी के साथ बाएं हाथ के परंपरागत स्पिन गेंदबाजी भी करते थे. 2003 की उपविजेता रही टीम इंडिया के सदस्य रहे दिनेश का इंटरनेशनल करियर करीब पांच साल का ही रह सका और वे टीम इंडिया में कभी नियिमत रूप से नहीं चुने जा सके.

मोंगिया ने अपना पहला इंटरनेशनल मैच 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे मैच खेला था. जबकि आखिरी इंटरनेशनल मैच साल 2007 में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था. इसी साल उन्होंने फर्स्ट क्लास मैच भी खेला था जिसके बाद वे आईसीएल खेलने पर बोर्ड ने उन्हें बैन कर दिया था. वे 2003 विश्व कप टीम इंडिया का हिस्सा थे उन्होंने अपने करियर में 57 वनडे खेले थे जिसमें उन्होंने 1230 रन बनाए थे. उन्होंने अपने वनडे करियर में 14 विकेट लिए थे.

मोंगिया ने अपने करियर में एकमात्र टी20 इंटरनैशनल मैच साउथ अफ्रीका के खिलाफ जोहानिसबर्ग में खेला था. उनके नाम केवल एक ही वनडे सेंचुरी है जो उन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ लगाई थी. उन्होंने गुवाहाटी में नाबाद 159 रन की पारी खेली थी.  जिसमें उन्होंने 17 चौके और एक छक्का लगाया था.  अपने करियर में एक भी टेस्ट न खेल पाने वाले मोंगिया ने इंग्लैंड मे काउंटी क्रिकेट भी खेला था. वे लंकाशायर और लीसेस्टरशायर के लिए खेल चुके हैं.

मोंगिया को संन्यास एक औपचारिकता माना जा रहा है पिछले सीजन में वे पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के चयनकर्ता भी बनाए गए थे. आईसीएल में खेल चुके खिलाड़ियों को बीसीसीआई ने माफी दे दी थी, लेकिन इसके बाद भी मोंगिया कभी क्रिकेट खेलते नहीं दिखाई दिए. दिनेश ने एक फिल्म में भी काम किया है . वे 2014 में बनी कबाब में हड्डी नाम की फिल्म में नजर आए थे. फिल्म फ्लॉप रही और मोंगिया ने अपने एक्टिंग करियर को आगे नहीं बढ़ाया.