निर्मला सीतारमण ने अथव्यवस्था को पटरी पे लाने के जो उपाय कर हैं उन्हें अखबार ने इकॉनॉमी की नजर उतारना लिखा है। टैक्स छूटों के साथ ही भोपाल में पेट्रोल महंगा होने वाला आईटम भी यहां फिक्स हो गया। एक तरफ जहां पत्रिका लिखता है कि सरकार को कमजोर करने के लिए हनी ट्रैप की साजिश रची गई वहीं नवदुनिया निहायत मासूमियम के साथ लिख रहा है कि ठेके नहीं मिले तो बाइयों ने वीडिया बना लिया। दुष्कमी चिन्मयानंद के कबूलनामें वाली खबर भी यहां है। केंद्रीय दल ने भी मप्र में बाढ़ से बड़े नुकसान को माना है। तो फिर केंद्र से पइसा दिलवाओ साब। इस चक्कर में यहां सरकार ने पेट्रोल पे टैक्स बढ़ा दिया है। हनी ट्रेप वाली श्वेता जैन की भयंकर लाइफ स्टाइल वाली खबर सिटी में फुलटू आई। ज्योति काम्प्लेक्स की पार्किंग को एंगल से कवर करने वाली खबर ध्यान खींचती है। अब निगम की पाइप लाइन से मुबारकपुर ब्रिज को खतरा है। शताब्दी की खराब हालत वाली खबर भी यहां एडजस्ट हो गई।