इंदौरः यातायात पुलिस की ओर से चालान काटने के लिये रोके जाने पर भड़के एक व्यक्ति ने कथित तौर पर खुद की मोटरसाइकिल में आग लगा दी. पुलिस का दावा है कि इस अजीबो-गरीब घटना के समय मोटरसाइकिल सवार नशे में चूर था. इंदौर के परदेशीपुरा क्षेत्र में कल रविवार रात सामने आई इस घटना के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. कुछ सोशल मीडिया उपयोगकर्ता इस वाकये को यातायात पुलिस की कथित अवैध वसूली से भी जोड़ रहे हैं.

घटना के बारे में शहर के पुलिस अधीक्षक (सीएसपी) निहित उपाध्याय ने सोमवार को बताया, "यातायात पुलिस के दल ने रविवार रात एक मोटरसाइकिल सवार को जब नियमित चेकिंग अभियान के तहत रोका, तब उसने बहुत शराब पी रखी थी. उसके पास वाहन के दस्तावेज भी नहीं थे."

चालक की नहीं पो पाई है पहचान
उन्होंने बताया, "यातायात पुलिस उससे चालान वसूल पाती, इससे पहले ही उसने गुस्से में अपनी मोटरसाइकिल में आग लगा दी और फरार हो गया. हम उसकी पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं. उसे ढूंढकर उसके खिलाफ उचित कानूनी कदम उठाये जायेंगे."

सीएसपी के मुताबिक घटना में जली मोटरसाइकिल पुलिस ने जब्त कर ली गई है. घटना के वायरल वीडियो में मोटरसाइकिल आम सड़क के किनारे लपटों में घिरी नजर आ रही है और पुलिसकर्मी व राहगीर इसे बस देख रहे हैं.

लोगों का आरोप पुलिस कर रही है परेशान
वीडियो में अज्ञात लोगों की कुछ आवाजें भी सुनी जा सकती हैं जिनमें कहा जा रहा है कि नया मोटर गाड़ी कानून मध्यप्रदेश में फिलहाल लागू नहीं हुआ है और इसके बावजूद स्थानीय यातायात पुलिस इसके नाम पर वाहन चालकों को परेशान कर रही है.

इस बीच, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नये मोटर वाहन अधिनियम में यातायात नियम तोड़ने पर भारी जुर्माने के प्रावधानों को "जनविरोधी" बताते हुए सोमवार को यहां केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का पुतला फूंका.

शहर के मालवा मिल चौराहे पर विरोध प्रदर्शन में शामिल कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि इस कानून के नाम पर पुलिसकर्मी प्रमुख चौराहों और शराब की दुकानों तथा पब-बारों के पास वाहन सवारों से जबरिया वसूली कर रहे हैं.

प्रदर्शनकारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए नये मोटर वाहन अधिनियम में भारी जुर्माने से जुड़े प्रावधानों को वापस लिये जाने की मांग की.